हैरत में पड़ा स्वास्थ्य विभाग आखिर अचानक सीतापुर में कैसे फूट गया कोरोना बम


 सीतापुर ।
सब कुछ ठीक ठाक था। कोरेाना मरीजों की संख्या सीतापुर में न के बराबर हो गयी थी इसके बाद भी स्वास्थ्य महकमा सख्त रहा टीकाकरण पर विशेष बल दिया जा रहा है इसके बाद भी पिछले 24 घण्टो के दौरान सीतापुर में कोरोना बम फूट पड़ा जिससे एक बार फिर दहशत का माहौल कायम होने लगा है। हलांकि अगर जिले  में कोरोना बम फूटा है तो यह तय है कि जनता द्वारा कोरोना प्रोटोकाल का प्रयोग नही किया गया है। शासन और प्रशासन की मेहनत से कोरोना काबू में किया गया है अभी खत्म नही हुआ है इस कारण आज भी कोरेाना प्रोटोकाल का पालन बेहतद जरूरी है। इस बात को स्वयं जनता को ही समझना होगा। गौरतलब यह भी है कि कोरोना की दूसरी लहर अभी समाप्त नहीं हुई है। यह बात विशेषज्ञ लगातार कह रहे हैं। लोगों को सुरक्षित रहने की सलाह भी दे रहे हैं। सीएमओ बार-बार लोगों से बिना मास्क के बाहर न निकलने को कह रही हैं। जी हां, शनिवार रात सीएमओ को प्राप्त हुई 2392 सैंपलों की जांच रिपोर्ट में कोरोना के 27 नए रोगी मिले हैं। इससे पहले दहाई के अंकों में दो व नौ जून को 12-12 कोरोना रोगी मिले थे। इससे भी पहले मई में कोरोना के केस कम संख्या में मिलना शुरू हुए थे। 27 मई को 25 रोगी मिले थे। इससे पहले कोरोना रोगियों का आंकड़ा काफी ज्यादा था लेकिन, शनिवार रात को फिर से कोरोना रोगियों के आंकड़ों ने दहाई के अंक को छूना शुरू किया है। तंबौर सीएचसी क्षेत्र में 15 कोविड रोगी मिले हैं। अधीक्षक डॉ. संजय गौड़ ने बताया, कुल 15 कोरोना रोगियों में छह रोगी कस्बे के हैं। नौ रोगी ग्रामीण क्षेत्र के हैं। बताया, शुक्रवार को सीएचसी पर सैंपल हुए थे। इनकी आरटी-पीसीआर रिपोर्ट शनिवार रात में आई थी। अधीक्षक ने बताया, कस्बे में ट्रेस हुए रोगियों में 10 साल की एक बच्ची भी है, जबकि अन्य कोविड रोगियों की आयु 18 से 42 वर्ष तक की है। रोगियों को दवा किट दी जा रही है। अधीक्षक ने बताया, जो रोगी ट्रेस हो जा रहे हैं उनके घर के आसपास 25 मीटर परिधि को कंटेनमेंट जोन बनाया जा रहा है। इसी तरह मिश्रिख में चार व पिसावां में आठ कोरोना रोगी मिले हैं।दूसरी लहर में मई के बाद जुलाई में रविवार को एकदम से 27 कोरोना रोगियों के मिलने से सीएमओ डॉ. मधु गैरोला भी हैरत में हैं। वह कहती हैं कि अभी तक आए दिन एक-दो कोविड रोगी मिल रहे थे, पर इतनी अधिक संख्या में कोरोना रोगियों का मिल जाना असमंजस वाली बात है। खैर, सीएमओ रिपोर्ट को चौलेंज नहीं करती हैं पर वह सोंच में जरूर पड़ गई हैं।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव