नाबालिग बच्चों से मनरेगा योजना के कार्य में चलवाया जा रहा फावड़ा , जिम्मेदारों की लापरवाही सरकार की योजनाओं को लगा रही पलीता


 
हरदोई। तालाबों के पुनरुद्धार के लिए मनरेगा योजना द्वारा कराए जा रहे 
काम में नाबालिक बच्चों फावड़ा चलवाया जा रहा है। देश की सबसे बड़ी विकासयोजना के नाम से मशहूर मनरेगा अब ध्वस्त होने के कगार पर पहुंच रहा है,इस योजना में ग्राम प्रधान और उसके जिम्मेदार अधिकारी पलीता लगा रहे हैं।मामला जनपद के ब्लॉक बावन के अंतर्गत ग्राम सभा रारा का है, जहां परतालाबों के पुनरुद्धार के लिए मनरेगा योजना द्वारा कराए जा रहे काम मेंनाबालिक बच्चों फावड़ा चलवाया जा रहा है। यह जानकर आश्चर्य होगा कि एक ओरबाल श्रम पर हिंदुस्तान के कानून में सजा और प्रतिबंध का प्रावधान है।वही सरकारी योजनाओं में नाबालिग बच्चों द्वारा काम किए जाना कहीं ना कहींयोजना में भ्रष्टाचार को उजागर कर रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में पलायनको रोकने के लिए ही मनरेगा योजना को लागू किया गया था, लेकिन इस ग्राम केप्रधान की करतूत ने पूरी योजना पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया है। एक सरकारीयोजना और सरकार का पैसा और सरकार की जमीन यही नहीं सरकार के द्वारा हीलगाई गई रोक और सजा एक ग्राम प्रधान के आगे नतमस्तक दिखाई दे रही है जोनाबालिक बच्चे को काम पर रख दिया। मनरेगा में काम करने वाले बच्चे का जॉबकार्ड बना है और यदि बना है तो यह तो बहुत ही बड़ा घोटाला सामने आ रहा है।यदि नहीं बना है तो यह बच्चा किसके कहने पर अपना खून पसीना बहा रहा है।इन सब के बीच में सबसे बड़ा सवाल तो यह है कि इस बच्चे की मेहनत के बादमजदूरी किस हिसाब से मिलेगी, क्योंकि जब कार्ड ही नहीं बना तो बच्चे कोमजदूरी करने का कार्य कैसे मिल गया और अब इस बच्चे को नाबालिग दिखाकरक्या सरकार के खजाने से पैसा निकाल कर नाबालिग की मजदूरी का भुगतान कियाजाएगा। जिसके कारण यह ग्रामीण इलाका और भी पिछड़ता जा रहा है। आखिरकार किसकारणवश नाबालिक बच्चे से कार्य करवाया गया, अब इन सब चीजों के बीच में एकबात तो आमंजनमानस के समझ में आ ही जाती है कि सरकारी जांच किस स्तर परचलती हैं। हो सकता है कि जब नाबालिक बच्चों से काम करवाने का कोई आदेश हीनहीं है और नाबालिक बच्चे से काम करवाने के जब ग्राम प्रधान के खिलाफसारे साक्ष्य तश्वीरो में मौजूद हैं तो आखिर किस बात की जांच होगी। इसीबात को लेकर लोगों में चर्चा बनी हुई है। इस संबंध में परियोजना निदेशकखंड विकास प्रभारी बावन ने टालमटोल करते हुए बताया नाबालिक बच्चे अपनेमाता पिता की जगह पर काम कर सकते हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव