पांचवे दिन किसान नेताओं को मिला प्रशासन का भरोसा,तोड़ा अनशन


 
हरदोई।बेनीगंज कोतवाली इलाके के झरोइया गांव में चल रहे किसान यूनियन के आमरण अनशन को अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर समस्याओं के निस्तारण कराए जाने की बात को लेकर समाप्त करा दिया है। किसान यूनियन के द्वारा 5 दिन से समस्याओं के निस्तारण को लेकर आमरण अनशन चलाया जा रहा था।पांचवे दिन प्रदेश अध्यक्ष के साथ मौके पर एसडीएम सण्डीला,सीओ हरियाँवा पहुंचे और निराकरण कराए जाने की बात कही जिसके बाद आमरण अनशन समाप्त हो गया।

        बतादें की सार्वजनिक चकरोड पर दबंगों के द्वारा कब्जा कर रखा है।दर्जनों शिकायतों के बावजूद कोई निस्तारण नही हो पा रहा है जिसके कारण किसान यूनियन आंदोलित है।पिछले एक साल से चल रहे चक मार्ग खाली कराने व संगठन के ज़िला सचिव ध्रुव सिंह के सुसाइड करने के मामले में प्रताप नगर बेनीगंज मार्ग पर सड़क के किनारे बैठकर लगातार अनशन धरना प्रदर्शन किया जा रहा था।किसान नेता पुनीत मिश्रा ने बताया कि कोतवाली बेनीगंज के ग्राम सभा झरोइया में गांव के बीचो बीच सरकारी नक्शे पर चकरोड निकला हुआ है जिस चकरोड पर सालों से अवैध रूप से दबंगों का कब्जा है जिसको खाली कराने की कानूनी लड़ाई पिछले एक साल से संगठन के ज़िला सचिव रहे ध्रुव सिंह लड़ रहे थे। यूनियन की तरफ से यह आरोप है कि संडीला ब्यूरोक्रेसी की उदासीनता के चलते ध्रुव सिंह ने पिछले दिनों आत्म हत्या कर ली थी। जिससे आक्रोशित होकर भारतीय किसान यूनियन लोकतांत्रिक संगठन के जिला अध्यक्ष पुनीत मिश्रा द्वारा 23 जून को उप जिलाधिकारी संडीला मनोज श्रीवास्तव को चक मार्ग खाली कराने के संबंध में ज्ञापन सौंपा था। जिसके संबंध में 26 जून 2021 को राजस्व कर्मियों द्वारा उस चकरोड को ना खाली कराकर दूसरे चकरोड पर दिखावटी कार्रवाई कर दी गई तथा रसूख दारों के खेत छोड़कर गरीब किसानों के खेतों में चक मार्ग नाप दिया गया जिसके चलते यह समस्या अभी भी बनी है।सोमवार को प्रदेश अध्यक्ष मनीष यादव एसडीएम सण्डीला सीओ हरियाँवा आदि ने पहुंचकर किसान नेताओं से वार्ता की जिसके बाद धरना अनशन समाप्त किया गया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव