सीतापुर :कलयुगी बेटो ने की अपनी माँ की बेरहमी से हत्या ,पिता घायल

 



क्रिकेट बैट से मां-बाप पर किए ताबड़तोड़ वार, माता की तुरंत मौत हो गई; पिता घायल, बेटे गिरफ्तार 

सीतापुर में संपत्ति विवाद के चलते दो बेटों ने अपने मां-बाप पर क्रिकेट बैट से ताबड़तोड़ हमला कर दिया। इसमें बुजुर्ग मां की मौत हो गई, जबकि पिता घायल गंभीर रूप से घायल हो गए। बताया जा रहा है कि घर को बेचने को लेकर बाप-बेटों में विवाद हुआ था। घटना की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पिता की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी बेटों को गिरफ्तार कर लिया है। घटना शहर कोतवाली क्षेत्र के पूर्णागिरि मोहल्ले की है।

मकान बेचने पर हुआ पिता-पुत्र में विवाद

पूर्णागिरि मोहल्ले के निवासी रामशरण पत्नी रामकली (48) और चार बेटों के साथ रहते थे। पिता सफाई कर्मी हैं। उन्होंने कुछ महीने पहले अपने मकान का आधा हिस्सा बेच दिया था। बचा आधा हिस्सा भी वो बेचना चाहता था। बेटे पिता के मकान बेचने के खिलाफ थे। शनिवार को भी इसी बात को लेकर परिवार में बहस चल रही थी। बात इतनी बढ़ी कि उत्तम और दुर्गेश ने क्रिकेट बैट से मां-बाप पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। हमले में मां की मौत हो गई। जबकि, पिता घायल हो गए।

सता रहा परिवार के बिखरने का डर

मां की मौत के बाद पिता ने पुलिस में शिकायत देकर हत्यारे बेटों को गिरफ्तार तो करा दिया, लेकिन अब उसको बेटे की फिक्र भी सता रही है। पिता ने पुलिस को बताया कि, उसका बेटा नशीली दवाओं का सेवन करता है, इसलिए ये वारदात उसने नशे की हालत में अंजाम दी है। मां के गुजर जाने के बाद बेटे ही पिता का आखिरी सहारा है। रामशरण के चार बेटे हैं। इसमें बड़ा बेटा उत्तम (28) और दुर्गेश (23) बेरोजगार हैं। जबकि, दो अन्य बेटों की उम्र कम है। पिता पर ही घर को चलाने की जिम्मेदारी है। जबकि बड़े बेटे उत्तम की शादी हो चुकी है। उसका भी एक बच्चा है।

पुलिस ने बेटों को किया गिरफ्तार

सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पिता की तहरीर पर आरोपी बेटों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस आरोपी बेटों से पूछताछ कर रही है। एसपी आरपी सिंह ने बताया कि, मामले में पुलिस उत्तम और दुर्गेश को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर जांच पड़ताल की जाएगी।

मृतका भीम आर्मी की नेता थी, लड़ चुकी थी चुनाव

मिली जानकारी के मुताबिक, मृतका रामकली भीम आर्मी की नेता थी। वह बीते त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में जिला पंचायत सदस्य पद का चुनाव भी लड़ी थी। मृतका के पति रामशरण का कहना है कि वह सीतापुर के वार्ड नम्बर 26 से भीम आर्मी के टिकट से जिला पंचायत सदस्य पद का चुनाव भी लड़ी थी। हालांकि, चुनाव में उसे हार का सामना करना पड़ा था। साथ ही जमानत राशि भी जब्त हो गयी थी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव