एक सप्ताह से फुका हुआ ट्रांसफार्मर सात दिन बाद भी नही बदला

 


ग्रामीणों ने संविदा कर्मियों पर लगाया 20 हजार मांगने का आरोप

शाहाबाद। ग्राम पंचायत नगरा कल्लू के मजरा नवरोज पुर के नीरज, संदीप, विपिन, मलखान, लालाराम, राजेश, देवशरण आदि ने एक सप्ताह से फूंके ट्रांसफार्मर को बदले के एवज में 20 हजार मांगने का आरोप लगाया है। सरकार दावा करती है नगर से लेकर ग्रामीण अंचलो शहरों से लेकर ग्रामीण क्षेत्रों तक 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराई जाएगी परंतु यहां पर बिल्कुल उल्टा हो रहा है। विभागीय अधिकारी योगी के आदेशों को दरकिनार करते हुए मनमानी करने पर आमादा हैं। कई कई घंटे तक नगर में बिजली गायब रहती है तो ग्रामीण क्षेत्रों का क्या हाल होगा बताते चलें यहां पर कार्यरत जेई किसी भी उपभोक्ता की परेशानी को गंभीरता से नहीं ले रहे है। इसके पीछे जो तथ्य सामने उभर कर आए हैं। उससे यह स्पष्ट होता है कि बगैर पैसा लिए जेई कोई भी कार्य करना मुनासिब नहीं समझते हैं?? जिसकी वानगी विकास खंड शाहाबाद ग्राम पंचायत नगला कल्लू के मजरा नवरोजपुर में देखने को मिल सकती है। जहां एक सप्ताह से ट्रांसफार्मर फुका पड़ा हुआ है। ऐसी भीषण गर्मी में बच्चे व बुजुर्ग का बुरा हाल है। आरोप है कि जेई ने अपने कुछ संविदा कर्मी इस बात के लिए लगा रखे हैं कि कहीं भी ट्रांसफार्मर फुके तो 20 हजार लेने के बाद ही ट्रांसफार्मर बदला जाएगा। मानवता की धज्जियां उड़ा रहे जेई यदि उस गांव का ट्रांसफार्मर बदल देते तो शायद सुभाष (25) पुत्र हरिश्चंद्र की मृत्यु रोशनी के अभाव में ना होती अंधकार होने के कारण मृतक को सर्प ने काट लिया और ना ही कोई सर्प को देख सका उसका शरीर जब काला पड़ गया तो बुजुर्गों ने बताया सर्प काटने से इसकी मृत्यु हुई है गरीब को ना तो राजस्व से लाभ मिला और पुत्र भी चला गया लेकिन भ्रष्ट बिजली अधिकारी व कर्मचारियों को तरस फिर भी नहीं आया। सरकार की नीतियों को पूर्ण रूप से असफल करने पर आमादा जेई को जनता से कोई लेना देना नहीं है। इनके लिए पैसा ही सर्वोपरि है लोगों का यह तक कहना है कि नगर के एक सपा नेता और जेई की सांठगांठ से यह सब कुचक्र किया जा रहा। बिजली कटौती ट्रांसफार्मर ना बदलना 10-10 मिनट में फाल्ट होना कई घंटों तक लाइट का गायब होना यह सब उस नेता के इशारे पर कर रहे हैं ऐसा प्रबुद्ध जनों  कहना है। भाजपा की छवि को धूमिल करने का भरसक प्रयास किया जा रहा है। पैसा दो ट्रांसफार्मर बदलावो। वह लोग कई बार विद्युत विभाग के कार्यालय पर गए और जेई को अपनी समस्या बताई मगर कोरा आश्वासन ही मिलता रहा। धीरे-धीरे एक सप्ताह बीत गया मगर लोग रोशनी देखने को तरस गए है। गांव वालों ने लाइनमैन से संपर्क साधा तो उसने बताया कि वह कुछ नहीं कर सकते हैं। जो संविदा कर्मी हैं उनसे संपर्क करें तो शायद आप का ट्रांसफार्मर बदल सके। लोगों ने संविदा कर्मियों से संपर्क किया तो उन्होंने कहा आप लोग पूरे गांव से इकट्ठा करके 20 हजार दें तभी दूसरा ट्रांसफार्मर लग पाएगा।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव