कई साल बीतने के बाद भी नहीं मिला प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ

 


कोई तिरपाल, कोई कच्ची छत तो कोई तीन के नीचे गुजार रहा है जीवन

टडियावां हरदोई । बरसात से जहाँ किसानों ने राहत की सांस ली है, वहीं आवास हीन लोगों की दिल की धड़कनें बढ़ गयी हैं। कहीं ऐसा न हो कोई छत गिर जाये, तिरपाल फट जाये या दीवार गिर जाये जिससे उनकी जानमाल को नुकसान हो जाये और एक नई परेशानी में पड़ जाएं। कुछ यही हाल गोपामऊ का है। नगर में अभी भी बहुत से परिवार ऐसे हैं, जिनको प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) का लाभ नहीं मिल सका है। परेशानी का आलम ये है, कि कमज़ोर छतों के निचे रहकर, मौत के साये में रहकर जीवन गुज़ारने को मजबूर हैं। मोहल्ला बंजारा निवासी अख्तरी पत्नी स्वर्गीय गुलाम वारिस का कहना है, कि हमारा घर धीरे धीरे पूरा गिर चुका है, नतीजतन अब हम तिरपाल तान कर अपनी गुज़र कर रहे हैं। जबकि आवास का फार्म डाले हुए लगभग 3 वर्ष हो चुके हैं, लेकिन अभी तक आवास का कोई पता नहीं है।मोहल्ला मोलवी निवासी अलीहसन की पत्नी का कहना है, कि आवास का फार्म डाले हुए काफी दिन हो गये हैं, लेकिन लेकिन अभी तक योजना के लाभ से वंचित हैं। उन्होंने बताया कि उनका पूरा घर कच्चा है, छत और दीवारें भी कमज़ोर हो चुकी हैं, कब कोई बड़ा हादसा हो जाये हर समय इसी का डर सताता रहता है।मोहल्ला मोलवी निवासी रशीद ने बताया कि कई बार उनके आवास का सर्वे भी हुआ लेकिन अभी तक लाभ से वंचित हैं, जबकि उनका घर पूरी तरह से कच्चा है और कमज़ोर भी हो चुका है। मोहल्ला सैय्यदवाड़ा निवासी असमा पत्नी नबी अहमद कहती हैं, कि वो और उनका परिवार टीन डाल कर गुज़र कर रहे हैं। चेयरमैन प्रतिनिधि नौशाद नदवी ने बताया कि ये डूडा कार्यालय का मामला है, उन्होंने कहा हम इसकी जांच करवाकर जल्द ही समस्या का समाधान करेंगे। अब देखना ये है, आखिर इनलोगों के आशियाना के ख्वाब कब पूरे होंगे और कब ये लोग निश्चिन्त होकर नींद लेंगे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव