हरदोई में ऑनलाइन तमंचा बेचने गैंग का खुलासा


सुपारी लेकर निपटाते थे दूसरों के झगड़े, मुठभेड़ के बाद एसओजी-पुलिस टीम ने गैंग के 4 सदस्यों को दबोचा

उत्तर प्रदेश के हरदोई में पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। पुलिस ने ऑनलाइन तमंचा बेचने के साथ मारपीट की सुपारी लेने वाले भाई ऑफ हरदोई और डीके खलनायक गैंगे के 4 सदस्यों को दबोच लिया। ये गैंग 8 महीने से सोशल साइट के जरिए ऑनलाइन तमंचा बचते थे। गैंग के सदस्यों पर कई संगीन धाराओं में केस दर्ज है। पुलिस आरोपियों की लंबे समय से तलाश कर रही थी।

युवाओं ने बनाया अपना गैंग

अपर पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार ने बताया कि, ये गैंग ऑनलाइन तमंचे बेचने के साथ साथ लोगों को मारने की सुपारी लेता थे। काफी समय से पुलिस इनकी तलाश कर रही थी। मुठभेड़ में पुलिस ने गैंग के 4 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। जल्द ही गैंग से जुड़े अन्य लोगो की भी गिरफ्तारी कर लिया जाएगा। गिरफ्तार सदस्यों से पुलिस पूछताछ कर रही है। युवाओं ने मिलकर भाई ऑफ हरदोई और डीए खलनायक गैंग बनाया था।

एसओजी और पुलिस ने चलाया ऑपरेशन

उन्होंने बताया कि, एसओजी और कोतवाली शहर पुलिस ने साझा ऑपरेशन चलाकर गैंग के सदस्यों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार किया है। देर रात कोतवाली शहर इलाके के बावन चुंगी के खेतों के पास झाड़ियों में गैंग अपनी अपराधिक गतिविधियां चला रहा था। सूचना मिलने पर एसओजी और पुलिस ने ऑपरेशन चलाकर गैंग के सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है।

पैसा लेकर निपटाते थे दूसरों के झगड़े

गैंग के सदस्य लोगों से पैसा लेकर उनके झगड़े निपटाते थे। इसके अलावा वो लोगों को ऑनलाइन हथियार भी बेचते थे। गैंग में एक दर्जन से अधिक युवा जुड़े हैं। गैंग के रितेश उर्फ बाला श्रीवास्तव पुत्र अनिल कुमार, विकास सिंह पुत्र बच्चन सिंह, जितेंद्र उर्फ जीतू पुत्र ओम प्रकाश, राजेश सिंह उर्फ मोनू पुत्र सुनील को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के पास से पुलिस ने तमंचे और कारतूस भी बरामद किए हैं। पकड़े गए रितेश उर्फ बाला पर हत्या के प्रयास सहित कई संगीन धाराओं में बेनीगंज में 8 केस दर्ज हैं। इनकी गिरफ्तारी के बाद पुलिस गैंग के अन्य सदस्यों की तलाश कर रही है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव