ज़िला पंचायत अध्यक्ष प्रेमावती कल लेंगी पद की शपथ


 
हरदोई।ज़िला परिषद की नवनिर्वाचित अध्यक्ष प्रेमावती वर्मा सोमवार को साढ़े दस बजे गांधी भवन में पद की शपथ लेंगी। साथ ही परिषद के 72 सदस्य भी शपथ लेंगे। उससे पहले अध्यक्ष राष्ट्रपिता की प्रतिमा और जनसंघ के संस्थापक डॉ0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी व पं0 दीनदयाल उपाध्याय के चित्रों पर माल्यार्पण कर अन्त्योदय के दर्शन को आत्मसात करने का संकल्प लेंगी। शपथ के बाद अध्यक्ष अम्बेडकर पार्क में बाबा साहेब और जिला परिषद में पूर्व अध्यक्षों की प्रतिमा पर माल्यार्पण करेंगी। इसके बाद बोर्ड की पहली बैठक होगी।

          ज़िला परिषद की तीसरी दलित अध्यक्ष प्रेमावती उच्च शिक्षित हैं, तो इसके पीछे उनकी सास का साहस और प्रोत्साहन रहा। साल 1985 में प्रेमावती हाईस्कूल में थीं तब उनका ब्याह प्रदीप कुमार 'पीके वर्मा' से हुआ था। उस दौर में लड़कियों की शिक्षा को लेकर समाज दकियानूसी हुआ करता था, खासकर महिलाएं। लेकिन, प्रेमावती की सास ने उन्हें उच्च शिक्षा के लिए प्रेरित किया। नतीजतन प्रेमावती ने राजनीति शास्त्र और समाज शास्त्र में परास्नातक की डिग्री हासिल करने के साथ बीएड किया। सिविल सर्विस से लेकर तमाम सरकारी सर्विस के इम्तहान में बैठीं। बाद में बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षिका के रूप में अध्यक्ष निर्वाचित होने से पहले तक सेवा दी।
         शिक्षा को महत्व देना परिवार के संस्कारों में ही रच-बस गया। परिणाम स्वरूप एक पुत्र नीरज वर्मा चिकित्सक और दूसरा पुत्र धीरज वर्मा इंजीनियर है। प्रेमावती के पति पीके वर्मा का समृद्ध राजनीतिक प्रोफ़ाइल है। साल 2007 में पीके सक्रिय राजनीति में आए और तत्कालीन बावन-हरियावां (सुरक्षित) विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ा। बाद में भाजपा के जिला उपाध्यक्ष बनाए गए। पीके केन्द्रीय उपभोक्ता सहकारी भण्डार के अध्यक्ष और राज्य एससी/एसटी आयोग के सदस्य रहे। साल 2015 के क्षेत्र पंचायत प्रमुख चुनाव में अनुज वधु को प्रमुख निर्वाचित कराया। साल 2017 के विधानसभा चुनाव में साण्डी (सु0) क्षेत्र से भाजपा सिम्बल के लिए प्रत्याशिता की।
       2017 विधानसभा और 2019 लोकसभा सभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैली के प्रबन्धन और व्यवस्था का दायित्व पीके ने कुशलता से निभाया। जनपद में अनुसूचित जाति मोर्चा के सम्मेलनों का दायित्व संयोजक के तौर पर बखूबी निर्वाह किया। भाजपा जिला कार्यालय निर्माण प्रकल्प के प्रभारी भी रहे। वर्तमान में पीके भाजपा अवध क्षेत्र के मंत्री हैं। इसके अलावा संत गाडगे धोबी महासभा के प्रान्तीय महामन्त्री और अखिल भारतीय धोबी महासभा के राष्ट्रीय महामन्त्री हैं। संगठन नेतृत्व से मिले दायित्वों को कुशलता से निर्वाह करने के परिणाम स्वरूप आज पीके की सहधर्मिणी प्रेमावती जनपद की प्रथम नागरिक हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव