तेंदुए के आतंक से हरदोई की कॉलोनियों में दहशत में लोग ,तेंदुआ के आगे वन विभाग की टीम पस्त


हरदोई
में तेंदुआ का आतंक फैला हुआ है। डेढ़ लाख की आबादी के बीच तेंदुआ है। लोग रात में सो नहीं पा रहे हैं, जिस एरिया में तेंदुआ देखा गया। उसके पास के घरों में तो इस तरह से दहशत कि लोग न घर में रह पा रहे हैं, न बाहर। आसपास के 10 से ज्यादा गांवों में डर का माहौल है।

दहशत का अंदाजा यहीं से लगाया जा सकता है कि सांडी कस्बे के नवाबगंज बस्ती में घुसे तेंदुए ने सुनील वाजपेयी को घायल कर दिया था। उनके मकान से कूदते हुए दूसरे मकान में गया था। मकान के सभी 21 लोगों को सीढ़ी लगाकर निकाला गया था। दूसरे दिन सुनील के भाई शिवशंकर ने खौफ में सुसाइड कर लिया था। इतना सब हो जाने के बाद भी वन विभाग तेंदुआ को पकड़ने के लिए अभी तक कोई ठोस तरीका नहीं ढूंढ सका है।

ये हैं लोगों की दहशत के कारण

  • आबादी का एरिया ज्यादा, ऐसे में किसी के घर में या मकान के आसपास होने की आशंका
  • जिस तरह से पंजों के निशान मिल रहे, उससे घबरा रहे स्थानीय लोग
  • एक नहीं बल्कि 4 तेंदुआ होने की भी कुछ लोग कर रहे बात
  • सीरियस नहीं दिख रही वन विभाग की टीम, 48 घंटे बीतने की बाद भी नहीं लगा तेंदुए का पता
  • रात में लाइट भी न आने की वजह से लोग टॉर्च का ले रहे सहारा
  • अफवाहों का बाजार गर्म है, इसलिए भी लोग डरे सहमे हैं
  • एक कुत्ते को भी तेंदुआ खा गया है, जानकारी मिलने के बाद लोग परेशान हैं

चार तेंदुए होने की कही जा रही बात
तेंदुए के न मिलने के बाद सिर्फ़ कस्बो में नहीं बल्कि अगल बगल के गांव में भी अफवाहों का बाजार गर्म हो गया. अलग अलग गांवों से तेंदुआ देखे जाने की सूचनाएं आ रहीं है, लेकिन कहीं से भी इनकी पुष्टि नहीं हुई. यहां तक कि उन गांवों के सामान्य ग्रामीणों ने भी तेंदुए के बारे में कोई सूचना दिए जाने या चहल कदमी की जानकारी होने से इनकार कर दिया। हालांकि, इलाके के लोगों का कहना है कि तेंदुआ एक नहीं बल्कि 4 है जिनमे एक नर एक मादा और दो उनके बच्चे है, सम्भव है कि तेंदुआ सांडी थाना क्षेत्र में स्थित बमहटापुर के जंगलों में चला गया हो या फिर दहर झील की तरफ चला गया हो।

48 घंटे बीते...तेंदुआ की लोकेशन इस तरह रही

  • रविवार सुबह 11 बजे सांडी के नवाबगंज स्थित बिजली उपकेंद्र परिसर में हमला किया।
  • दोपहर 12:46 बजे तेंदुआ पड़ोस के रामचंद्र, फिर सुनील वाजपेयी के मकान में घुसा।
  • सुनील वाजपेयी पर तेंदुआ ने हमला कर घायल कर दिया।
  • चीख पुकार सुनकर इलाके के लोग इकट्ठा हुए और भारी भीड़ ने लाठी डंडों के साथ घेराबंदी की, पत्थरबाजी भी हुई।
  • 6 घंटे बाद शाम करीब 7:34 बजे लखनऊ से आई विशेष टीम ने सर्च अभियान शुरू किया। पटाखे दागे, मशाल जलाई।
  • 7 घंटे तक सर्च ऑपरेशन चला पर तेंदुए का कोई पता नहीं चला।
  • बस्ती की आबादी वाले हिस्से की तरफ पुलिस व वन विभाग की टीमों ने जाल भी लगाए।
  • उसे सुअरों को पकड़ने वाले जाल में फंसाकर पकड़ने की योजना बनी, कुछ हासिल नहीं हुआ
  • तीन टीमें ढूंढ रहीं तेंदुआ
    प्रभागीय वन अधिकारी रवि शंकर शुक्ल के नेतृत्व में सोमवार को सुबह लगभग साढ़े नौ बजे से तेंदुए के पदचिह्न खोजने की कवायद शुरू हुई। इस कवायद में हरपालपुर के रेंजर हनुमान प्रसाद के नेतृत्व वाली टीम समेत तीन टीमों को लगाया गया। वन रक्षक भी लगाए गए।

    तेंदुआ के आगे वन विभाग की टीम पस्त
    लखनऊ से वन्य जीव विशेषज्ञ के नेतृत्व में आई टीम भी पस्त पड़ गई है। युवाओं की टोली ने वन विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों के साथ मकान के अंदर जाने की बात कही। इसके बाद युवा तो अंदर घुस गए, लेकिन वन विभाग के कर्मचारियों की हिम्मत नहीं पड़ी। यह देख प्रभागीय वन अधिकारी रवि शंकर शुक्ला खुद आगे बढ़ गए ओर सीढ़ियां चढ़कर सुनील के मकान में कूद गए, पर यहां तेंदुआ नहीं मिला।

  • कुत्ते को खा गया तेंदुआ
    रात 3 बजे क्षेत्रीय वन अधिकारी रत्नेश श्रीवास्तव व लखनऊ टीम के अधिकारी मकान के बरामदे व कमरे में पहुंचे पर तेंदुआ नहीं मिला. सुबह पता चला कि पड़ोस में रहने वाले व्यापारी विनीत गुप्ता का विदेशी नस्ल का कुत्ता भी गायब है. कुत्ते को अपना शिकार बनाने के बाद तेंदुआ मकान के पिछले हिस्से के ही आसपास कहीं है। हालांकि इस तरफ पिछले हिस्से की ओर कोई जाल नहीं लगाया गया था।

    इन गांवों में तेंदुए के जाने की आशंका

    • भीखपुर
    • परसापुर
    • हूंसेपुर
    • आदमपुर
    • भौराजपुर
    • सखेड़ा
    • काईमऊ
    • कुंवरियापुर

    वन विभाग के पास नहीं थे पर्याप्त संसाधन
    मकान के अंदर तेंदुआ तलाशने के लिए सर्च लाइट तक का इंतजाम नहीं था। रही सही कसर लाइट न आने के कारण पूरी हो गई। अधिकांश स्थानीय लोग अपनी-अपनी टॉर्च लेकर मौके पर पहुंचे। वन विभाग के कर्मचारियों के पास न तो बॉडी प्रोटेक्टटर है और न ही ट्रंक्युलाइजर मशीन। कुल मिलाकर गनीमत यह रही कि तेंदुए से सामना नहीं हुआ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव