लापरवाही की भेंट चढ़ा लाखों की लागत से बना पंचायत सचिवालय

 


हरपालपुर।
उतर प्रदेश सरकार की ओर से ग्राम पंचायतों में लाखों रुपये की लागत से पंचायत भवन का निर्माण दशकों पहले कराया था। जहां पर प्रधान व सचिव बैठककर लोगों की समस्याएं सुनें तथा व गांव में कराए जा रहे विकास कार्यों की बैठकें आयोजित हो लेकिन जिम्मेदारों की लापरवाही की वजह से बने पंचायत भवन खंडहर हो गए हैं। लगे गेट, दरवाजा, खिड़की सहित विद्युत उपकरणों को लोगों ने पार कर दिया है। जिससे शासन की मंशा प्रभावित हो रही है। विकास खंड सांडी के चैसार गांव में कई साल पहले पंचायत भवन का निर्माण कराया गया था। पंचायत भवन में एक कमरा ग्राम प्रधान और एक कमरा पंचायत सचिव के बैठने के लिए है। उसके अलावा कागजातों को रखने के लिए रिकार्ड रूम व ग्राम पंचायत से संबन्धित होने वाली बैठक के लिए बड़े हाल का निर्माण कराया गया था। जिसमें पेयजल के लिए हैंडपंप और शौचालय का भी निर्माण कराया था। लेकिन देख-रेख न होने की वजह से ये दुर्दशा का शिकार है। गांव के अराजकतत्वों ने इसे क्षतिग्रस्त कर दिया पंचायत भवन में लगे गेट, जंगला-दरवाजा सहित विद्युत उपकरणों को तोड़कर पार कर दिया। इसकी वजह से यह खंडहर में तब्दील हो गया है और अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। पंचायत भवन बदहाल होने की वजह से होने वाली बैठक नहीं हो रही हैं और न ही ग्राम प्रधान व सेक्रेटरी ही बैठ रहे हैं। वहीं ग्रामीणों का कहना है कि विकास कार्यों से सम्बन्धित कोई बैठक नहीं कराई जाती है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव