राम मंदिर ट्रस्ट पर आरोप लगाने वाले रसीद दिखाकर चंदा वापस ले लें : साक्षी महाराज

 


अपने बयानों के लिए सुर्खियों में रहने वाले उन्नाव के सांसद साक्षी महाराज ने एक बार फिर राम मंदिर को लेकर बयान दिया है। साक्षी महाराज ने कहा है कि आरोप लगाने वाले रसीद दिखाकर चंदा वापस ले लें। 

सांसद साक्षी महाराज ने अपने आवास पर मीडिया से कहा कि जो लोग आरोप लगा रहे हैं उनकी पार्टी के मुखिया ने रामभक्तों पर गोलियां चलवाई थी। दंभ भरी आवाज में कहा था यहां परिंदा पर नहीं मार सकता। उसी स्थल पर भगवान श्रीराम का भव्य और दिव्य मंदिर बन रहा है। आरोप लगाने के अलावा सपा के पास और आम पार्टी के पास कुछ रह नहीं जाता है।

साक्षी महाराज ने कहा जहां तक चंपत राय का मामला है, चंपत राय ने अपना सारा जीवन भगवान राम के लिए समर्पित किया है। ऐसे व्यक्ति पर आरोप लगाना निराधार है। फिर भी अगर संजय सिंह ने कुछ चंदा दिया हो राम मंदिर के लिए तो रशीद दिखाकर अपना चंदा वापस मांग सकते हैं। अखिलेश यादव ने भी अगर चंदा दिया हो तो हमको रसीद दिखाकर अपना चंदा वापस ले सकते हैं। ये वो लोग हैं जिन्होंने राम मंदिर का पुरजोर विरोध किया था। 

वही, यूपी बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह राम के अस्तित्व को नकारने वाले राम मंदिर पर सवाल उठा रहे है। उन्होंने कहा कि जो राम से प्रेम नहीं करता है, कृष्ण से प्रेम नहीं करता है राम के आस्तित्व को नकारता है। रामसेतु के अस्तित्व को नकारता है, जो राम सेवकों पर गोलियां चलवाता है। ऐसे लोग राम मंदिर की बात कर रहे है। सच्चाई रामभक्तों के सामने आ चुकी है।

घोटाले की जांच करवाए सुप्रीम कोर्ट
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट को अपनी निगरानी में इस मामले की जांच करानी चाहिए। उन्होंने फेसबुक पोस्ट में कहा कि 2 करोड़ रुपये मूल्य की जमीन सिर्फ पांच मिनट के बाद प्रधानमंत्री जी द्वारा बनाए गए श्रीराम मंदिर निर्माण ट्रस्ट की ओर से 18.5 करोड़ रुपये में खरीद ली गई। यानी जमीन की कीमत 5.5 लाख रुपये प्रति सेकंड की दर से बढ़ गई। यह सारा पैसा हिंदुस्तान की जनता द्वारा मंदिर निर्माण के लिए दान के रूप में दिया गया था।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव