सूदखोरो के खिलाफ सीतापुर का वैश्य समाज हुआ एकजुट


 सीतापुर
। शाहजहाँपुर में वैश्य समाजके अखिलेश गुप्ता ने अपनी दो छोटे-छोटे बच्चों और पत्नी के साथ फांसी’ लगा लीथी।इस सामूहिक आत्महत्याके मामले में पुलिस प्रशासन ने दोषी को केवल धारा 306 में अभियुक्त बनाया है इससे प्रतीत होता है कि पुलिस द्वारा ढ़ील दिये जाते हुए अपराधियों को शरण देने का प्रयासकिया जा रहा है। जानकारी के अनुसार दोषी सूदखोर अविनाश बाजपेई द्वारा अखिलेश गुप्ता के मकान को भी अपने नाम बैनामा करवाकर दाखिल खारिज भी करवा लिया गया। जिसको खाली करवाने का अनावश्यक दबाब दोषी द्वारा लगातार बनाया जा रहा था। सूदखोर अविनाश बाजपेई व्यक्ति एक गैंग बनाकर लम्बे समय से सूदखोरी का घिनौना कार्य कर रहा है। और भोले-भाले लोेगों को मनमाने ब्याज पर रूपये देकर उनकी चल-अचल सम्पत्ति को हथिया लेता है। इस वजह से कितने परिवार बरबाद हो गये। या बरबादी की कगार पर पहुंच गये। वैश्य संमाज के जिलाध्यक्ष विवेक अग्रवाल (मिंटू भैया ) ने बताया उक्त परिपेक्ष्य में ’वैश्य समाज’ नेआज ’जिलाधिकारी सीतापुर’ के समक्ष प्रस्तुत होकर माननीय मुख्यमंत्री जी को संबोधित करते हुएलखनऊमंडल अध्यक्ष संदीप गुप्ता के नेतृत्व में एक ज्ञापन सौंपा साथ ही सीबीआई जांच एवं दोषियों पर गैंगस्टर लगाने की मांग की मौके परप्रेम चन्द्र अग्रवाल ,रविकाश गुप्ता, अमित बिंदल,नवीन राजस्थानी ,मुकेश अग्रवालआकाश बजरंगी,अतुल गुप्ता, हिमांशु कनोडिया,सत्यप्रकाश गुप्ता ,रजनीश अग्रवाल,मोहन अग्रवाल सहित वैश्य समाज के काफी कार्यकर्ता उपस्थित थे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव