पूर्व जिला पंचायत सदस्य सपा में शामिल

 


सपा नेता बोले समाजवादी पार्टी पार्टी मजबूती के साथ लड़ेगी जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव

-नरेश अग्रवाल के करीबियों में शामिल रहे है जयराम वर्मा
-सपा जिला कार्यालय पर शामिल हुए सपा में
-कई बार जिला पंचायत सदस्य व प्रधान भी रहे है जयराम
हरदोई।समाजवादी पार्टी कार्यालय पर जिलाध्यक्ष जितेंद्र वर्मा जीतू पटेल की अध्यक्षता में पार्टी की मासिक बैठक सम्पन्न हुई।बैठक में सपा जिलाध्यक्ष जितेंद्र वर्मा जीतू पटेल व पूर्व सांसद ऊषा वर्मा ने सुरसा निवासी वर्तमान बी डी सी पूर्व जिला पंचायत सदस्य जयराम वर्मा व शहाबाद निवासी वर्तमान बीडीसी धैर्य प्रकाश धीरू बाजपेयी एडवोकेट को समाजवादी पार्टी की सक्रिय सदस्यता दिलाकर समाजवादी पार्टी में शामिल किया। 
      बीकापुर क्षेत्र से वर्षों तक ग्राम प्रधान रहे कई बार जिला पंचायत सदस्य तथा पासी समाज में अच्छी पकड़ रखने वाले जयराम वर्मा (पासी) को पूर्व सांसद नरेश अग्रवाल का बेहद भरोसेमंद अविश्वसनीय माना जाता है।सपा नेताओं ने दोनो का स्वागत किया और मासिक बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष व ब्लॉक प्रमुख चुनाव को लेकर रणनीति बनाई गई। सपा जिलाध्यक्ष ने संबोधित करते हुए कहा कि सपा की नीतियों व अखिलेश यादव के विचारों से प्रभावित होकर लगातार लोग समाजवादी पार्टी से जुड़ रहें है उन्होने कहा कि समाज का हर वर्ग आम जनता किसान गरीब बेरोजगार महिलाएं सभी बीजेपी सरकार की नीतियों से परेशान हैं। सपा जिलाध्यक्ष ने कहा कि जिला पंचायत अध्यक्ष व ब्लॉक प्रमुख के चुनाव में समाजवादी पार्टी को सफलता मिलेगी।
         पूर्व सांसद ऊषा वर्मा ने कहा कि गरीब व मध्यमवर्गीय जनता बीजेपी सरकार से बहुत परेशान है बीजेपी सरकार में तो विधायक सांसद की बात नहीं सुनी जा रही है तो आम जनता का कितना बुरा हाल होगा इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है।इस अवसर पर पूर्व जिलाध्यक्ष शराफत अली , पूर्व प्रत्याशी सुभाष पाल , जिला उपाध्यक्ष अजय पाल सिंह ,जिला उपाध्यक्ष जिला कोषाध्यक्ष अतुल उपाध्याय, जिला मीडिया प्रभारी अलंकार सिंह एडवोकेट, संतराम यादव नगर अध्यक्ष रियाशत खां, जितेंद्र दिवाकर, यादवेंद्र यादव, आलोक वर्मा हरिनाम यादव, सईद अहमद, महेंद्र वर्मा आदि लोग मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक