क्या फर्क है मिश्रिख पुलिस और दहशतगर्दो में ?


 मिश्रित पुलिस ने युवक को थाने लाकर की पटटो से पिटाई

मिश्रित सीतापुर। क्या फर्क रह गया मिश्रिख पुलिस और दहशतगर्दो में। दहशद गर्द खुलेआम दहशतगर्दी फेलाते है तो पुलिस युवक को थाने लेजाकर उसकी पटटो से पिटाई करती है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है जिसकी चुनावी रंजिश में दूसरो के कहने पर मिश्रिख पुलिस  पकड़ ले गयी और थाने ले जाकर उस पर  पटटे चला दिये। गौरतलब हो कि कोतवाली क्षेत्र मिश्रित में तैनात प्रभारी निरीक्षक मनोज कुमार और प्रभारी निरीक्षक अपराध अग्निहोत्री की दूषित कार्यशैली के चलते क्षेत्र में अपराधों का ग्राफ बढ़ता नजर आ रहा है । अपराधी लगातार घटनाओं को अंजाम देकर पुलिस को कड़ी चुनौती दे रहे है । पुलिस फिर भी उनके विरुद्ध कोई कार्यवाही करने में अपने को असहांय महसूस कर रही है । कोतवाली क्षेत्र के ग्राम पतौंजा  निवासी कल्पना पत्नी अमरेंद्र उर्फ पंकज और रेखा पत्नी विजय दत्त के मध्य बीते 2 दिन पहले सरकारी नल पर पानी भरने को लेकर विवाद हो गया था । पुलिस मौके की जांच करने गई थी । और मांमले में धीरु पुत्र राकेश को थाने उठा लाई थी । धीरु का आरोप है । कि उसका इस मांमले से कोई लेना देना नहीं है । 20 साल पहले गांव के कुछ विपक्षी लोगों ने उसके पिता का कत्ल कर दिया था । वही पुरानी रंजीत चल रही है । और प्रधानी के चुनाव में जो खड़े  थे ।पीड़ित ने उनका विरोध किया था । जिससे वह चुनावी रंजिस भी मानते है । उनके इसारे पर पुलिस उसको थाने उठा लाई थी । बिपक्षियों के इशारे पर थाने में उसकी पट्टों से पिटाई भी की गई । पीड़ित ने फोन से इस बात की शिकायत पुलिस अधीक्षक आर पी सिंह और यहां के सी ओ एम पी सिंह से की है । अब वह कोतवाली पुलिस के बिरुध्द क्या ऐक्सन लेते है । यह तो आने वाला समय ही बताएगा ।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक