बेटों ने घर से वृद्ध मा को निकाला,इंस्पेक्टर ने खाना खिलाया

 


टड़ियावां के प्रभारी निरीक्षक राय सिंह ने पेश की मानवता की मिसाल

-महिला को बैठाकर खिलाया खाना, फिर बेटों को बुलाकर सुलझाया मामला
-चारों बेटों को सख्त हिदायत देकर महिला के साथ भेजा गया घर
-हर तीसरे दिन पुलिस वाले महिला का हाल लेने जाएंगे घर
-टड़ियाँवा थाना क्षेत्र के सडिला की है महिला
हरदोई।टड़ियावां थाना के प्रभारी निरीक्षक राय सिंह ने मानवता की मिसाल पेश की।एक महिला जिसे उसके बेटों बहुओं ने घर से भूखी निकाल दिया उस वृद्ध महिला को उन्होंने पहले खाना खिलवाया और उसके बाद उसके बेटों को सख्त हिदायत देकर महिला के साथ घर भेज दिया।इंस्पेक्टर ने कहाकि हर तीसरे दिन पुलिस उस महिला का हाल लेने घर जाएगी।
 पुलिस की बर्बरता की खबरें हम सब और आपने काफी देखी हैं, लेकिन जब पुलिस की मानवता की मिसाल की कोई खबर सामने आती है वह भी थाने के अंदर तो सभी को अच्छी लगती है।हालांकि संवेदनहीन हो चुके लोगों के लिए संवेदना से भरी एक खबर किसी प्रशंसा की मोहताज नहीं लेकिन समाज को और पुलिस विभाग को एक सीख जरूर देखती है। एक बेसहारा  मां को उसके 4 कलियुगी पुत्रों और बहूओ ने घर से निकाल दिया।अपनो से दुत्कारी गयी बूढ़ी मां भूखी अवस्था मे क्षेत्रीय थाने पहुंची तो कोतवाल ने उस बेसहारा मां को अपने पास बैठा कर पहले भोजन कराया फिर उनकी पूरी बात सुनी और उसके पुत्रों को बुलाकर समझाया बुझाया और महिला को पुत्रों के साथ घर भेजा।
       टड़ियाँवा थाना क्षेत्र के सडिला गांव निवासी मुन्नी देवी के पति माखन का काफी समय पहले निधन हो चुका है।महिला का कहना है कि घर मे उसके चार बेटे विजयपाल छोटक्के व रामू रहते है जो अक्सर उसके साथ मारपीट गाली गलौज किया करते है।जब एक बार फिर उसके साथ यही घटना हुई तो उसने विरोध किया तो बेटों और बहुओं ने मिलकर उसे घर से निकाल दिया।वह भूंखी थी लेकिन थाने पहुंचकर शिकायती पत्र दिया।मामले की जानकारी मिलने पर प्रभारी निरीक्षक राय सिंह ने उसको पहले खाना खिलाया फिर सरकारी गाड़ी से चारों बेटों को बुलाकर सख्त हिदायत देकर महिला के साथ घर भेजा।प्रभारी निरीक्षक का यह कृत्य लोगों को एक नसीहत दे रहा है औऱ लोग इसकी खूब चर्चा कर रहे है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक