बरसात से मंडियों में भीगा गेहूं,उठान भी ठहरा


 -आंशिक बरसात से खुल गयी व्यवस्था की पोल

-बरसात के चलते खुले में पड़ा गेंहू भीगा
-अधिकारी मामले में बचाव करते हुए कर रहे लीपापोती
-कई जगह आंधी के साथ हुई बरसात से उड़ गए तिरपाल
-एडीएम ने कहाकि खरीद का एक एक दाना सुरक्षित पहुंचेगा गोदाम
-एडीएम का बयान कहीं कहीं जमीन निचली होने की वजह से बोरियों तक पहुंचा है पानी गेंहू सुरक्षित
हरदोई। अनाज मंडी में जहां गेहूं की आवक ने तेजी पकड़ी हुई है, वहीं प्रशासन के पुख्ता प्रबंधों की पोल भी खुल रही है।आंशिक बारिश से खुले आसमान के नीचे पड़ा गेहूं भीग गया।गेंहू भीगने के मामले में प्रशासन सिर्फ अपनी खानापूर्ति कर बचाव कर रहा है। वहीं, मंडी में गेहूं के उठान में भी देरी हो रही है। तेजी से उठान न होने के कारण मंडी गेहूं से अट चुकी है।एडीएम संजय सिंह का कहना है कि खरीद का एक एक दाना सुरक्षित गोदामों तक पहुंचेगा।कहीं कहीं जमीन नीचे होने के कारण आंशिक रूप से बोरियों तक पानी पहुंचा है।
     हरदोई में मौसम में बदलाव से आढ़ती किसान परेशान है।इस समय क्रय केंद्रों पर गेंहू की लहृद चल रही है ऐसे में खुले में गेंहू पड़ा है जिसके चलते देर रात से रुक रुक कर हो रही बरसात से काफी गेंहू भीग गया है।हालांकि गेहूं को भीगने से बचाने के प्रयास किये गए लेकिन पूरी तरह से नहीं ढक पाए। इससे गेहूं भीग गया।आंशिक बरसात ने ही व्यवस्था की पोल खोल दी तो आने वाले दिन में फिर से बारिश की संभावना है, ऐसे में गेंहू के भीगने से इंकार नहीं किया जा सकता।हालांकि अधिकारी इसको लेकर अपना बचाव जरूर कर रहे है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक