तम्बू की तरह उड़ गया नहर विभाग का बंबू कैरेट, गुणवत्ताहीन व लापरवाही से हुए कार्य का यह निकला अंजाम

 


कार्यदायी संस्था ने भी प्रशासन को दी थी गलत जानकारी

रेउसा  सीतापुर । बैराजों से लगातार छोड़े जा रहे पानी  के चलते गांजरी क्षेत्र में बहने वाली घाघरा व शारदा नदियां उफान की कगार पर हैं । नदियों के जल स्तर में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है। क्षेत्र के करीब दो दर्जन से अधिक घर कटान की कगार पर पहुंच चुके हैं। ग्रामीणों ने सपने में भी यह नहीं सोचा होगा कि अपने ही हाथों से बनाए गए आशियानों को तोड़ना पड़ेगा और वह घर से बेघर होकर खानाबदोश की जिंदगी जीने पर मजबूर होंगे । घाघरा नदी के मुहाने पर बसे फौजदार पुरवा  व परमेश्वर पुरवा के बाशिंदों की नदी की लहरें देखकर धड़कने बढ़ती जा रही हैं । शनिवार को नदी की कटान से फौजदार पुरवा गाँव को बचाने के लिए आग लगने पर कुआँ खोदने की कहावत को चरितार्थ करते हुए सिंचाई विभाग द्वारा बंबू कैरेट निर्माण कार्य जारी था ।विभाग द्वारा पूर्व में बनवाये गए मानक विहीन लगभग सौ मीटर बंबू कैरेट को घाघरा नदी ने काटकर समाप्त कर दिया है । गौलोक कोडर के फौजदार पुरवा व ग्राम पंचायत बजहा के गौढी  निवासी विशेश्वर मिश्री नरेश साधू चेतराम संतोष कुमार दिनेश कुमार यादव मिलखी सोबरन किशोरी आदि की लगभग चालीस बीघा मेंथा आयल की फसल लगे खेत धीरे धीरे नदी में कट कर समाप्त हो रहे हैं  । परमेश्वर पुरवा गांव में श्रीराम यादव निर्मल रमेश धनीराम रामनरेश रामचंद्र गयादीन परमेश्वर यादव सुरेंद्र यादव अजय कुमार नरेंद्र आदि के घर घाघरा नदी के कटान के मुहाने पर हैं । क्षेत्र के मेयोड़ी छोलहा जटपुरवा कमरिया शेखूपुर मल्लापुर आदि गांवों के बाशिंदे शारदा नदी के बढ़ते जलस्तर को देखकर भयभीत हो रहे हैं । म्योढी छोलहा के मजरा श्रीराम पुरवा धूसपुरवा के पास बनाया गया तटबंध  करीब आधा दर्जन जगह कट गया है। जिसके चलते शारदा नदी का पानी गांव की तरफ  तेजी से प्रवेश के लिए बेताब है । शनिवार को सिंचाई विभाग के अधिकारी विशाल पोरवाल आरिफ कमाल अमित वर्मा भोला प्रसाद आदि क्षेत्र के परमेश्वर पुरवा व फौजदार पुरवा गांवों में बंबू कैरेट निर्माण कार्य का निरीक्षण करने पहुंचे ।और ठेकेदार को तेजी कार्य में तेजी लाने को कहा । इस निर्माण कार्य से घाघरा नदी की धारा को रोक कर दूसरी दिशा में परिवर्तित हो सकता है जिसके चलते गाँव को कटान से बचाया जा सकता है। एस डी एम बिसवां अनुपम मिश्रा ने बताया कि घाघरा और शारदा नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है वहीं शासन प्रशासन द्वारा संभावित बाढ़  की समस्या से निपटने के लिए पूरे प्रयास कर लिए गए हैं ।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव