खनन माफियाओं के निशाने पर आया जिले का मिश्रिख इलाका


 सीतापुर।
खनन माफिया धडल्ले से चला रहे खनन अधिकारी बने हुए है मूक । बताते चले आज अचानक देखा गया कि अटवा भठ्ठे के पास गांव में जेसीबी से खनन का कार्य चल रहा था मीडिया टीम के पहुचते ही जेसीबी मशीन को बन्द कर दिया गया मौके पर 2 ट्रैक्टर ट्राली खड़ी हुई थी टीम को देखते ही जेसीबी मशीन के ड्राइवर ने मालिकान को फोन किया मालिकान ने मीडिया टीम से बात की बताया कि खनन का परमीशन है भठ्ठे पर जाकर देखले जब पूरी टीम भठ्ठे पर पहुची तो वहां पर मुनीम के द्वारा बहुत ही गर्म भाषा मे बताया गया कि यहाँ पर कोई कागज नही है जिसपर मिश्रिख कोतवाली प्रभारी मनोज कुमार यादव को भी इस बात से अवगत कराया गया कोतवाली प्रभारी ने रोड जाम का हवाला देते हुए अपना पल्ला झाड़ लिया जिसके बाद खनन अधिकारी को भी अवगत कराया गया खनन अधिकारी ने पता लगवाता हु कहते हुए पल्ला झाड लिया यह सूचना समय तकरीबन 11रू27 पर दीगयी परंतु अधिकारियो के द्वारा मीडिया कर्मियो को समाचार लिखे जाने तक समय करीब 2 बजे तक कोई शूचना नही दी गयी इसका मतलब क्या समझा जाये कि अधिकारियों की मिली भगत से यह सब कार्य कराए जाते है जब कि सूबे के मुखिया श्री आदित्यनाथ योगी का कहना है कि किसीभी प्रकार की गोपनीयता व लापरवाही नही बर्ती जायेगी फिर यहाँ पर ये लापरवाही क्यो इसी तरह मीडिया कर्मियों की शूचना को जब नजर अन्दाज किया जायेगा तो फिर क्या होगा इस देश का जब की मीडिया को चैथा स्तंभ माना जाता है जो अपनी जान जोखिम मे डालकर हर छोटी बडी घटनाओं को उजागर करते है पर यहाँ के अधिकारी मीडिया को केवल सून्य समझते है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक