आवास सत्यापन करने गये सचिव की बेरहमी से पिटाई, थाने मे दी तहरीर


 सरकारी दस्तावेज फाड़ने व फर्जी  मुकदमो में फसाने की मिली धमकी

बोली क्षेत्र की जनता आखिर कब तक जनता होती रहे घिनौने सिस्टम का शिकार

सीतापुर।  अवासो का सत्यापन करने  गये सचिव व उनके सहायक को विगत दिवस बुरी तरह से पीटा गया। सचिव ने थाने पर तहरीर दी और अपना पक्ष मीडया और पुलिस के सामने रखा तो जनता ऐलान कर रही है कि सचिव द्वारा पहले ही आवास योजनाओं में घोटालो बाजी केा अंजाम दिया गया है। पात्रो से मतलब भर की वसूली की जा चुकी है इसके बाद भी अब सत्यापन के नाम पर पैसे मांगे जा रहे है। जनता द्वारा लगातार शिकायते जिम्मेदार अधिकारियों और ब्लाक स्तर  पर दी जा रही है लेकिन कमीशन से सराबोर ब्लाक स्तर के अधिकारी भी इन सचिवों पर ठोस कदम  नी उठा पा रहा है तो वहीं पर इन सचिवों की शिकायते जिला स्तर पर व पंचायत राज विभाग में भी की जा चुकी है लेकिन जब जिम्मेदार अधिकारी कार्यवाही ही नही कर रहे है तो जनता केा अब स्वयं इंसाफ मांगना होगा। आखिर जनता कब तक इस घिनौनो सिस्टम का शिकार होती रहे तो वहीं ग्राम विकास अधिकारी  जनता पर श्याम कुमार  ने बताया  कि ग्राम पंचायत निरहन विकासखंड मिश्रिख में ग्राम पंचायत अधिकारी के पद पर कार्यरत है वर्तमान में ग्राम पंचायत  निरहन में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत आवास सत्यापन कर कार्य कर रहा हूं उसमें सत्यापन हेतु  वह विकासखंड मिश्रिख में कार्यरत सहायक विकास अधिकारी  ओम प्रकाश  के साथ जो कि हमारे सेक्टर प्रभारी हैं सत्यापन हेतु गया था सत्यापन के उपरांत मैं विकासखंड की तरफ जा रहा था तब विपक्षी विशाल मिश्रा आकाश मिश्रा एवं अन्य लोगों ने मुझे जातिसूचक गालियां देते हुए मारा-पीटा एवं मेरे हाथ से सरकारी दस्तावेज जैसे आवास सूची को लेकर फाड़ दिया तथा सेक्टर प्रभारी  ओम प्रकाश के साथ भी गाली गलौज की एवं धमकी दी तथा कहा कि अभी तो मैं साले तुम्हें मार ही रहा हूं अगर तुम मेरी मार से बच भी गए तो तुम्हें फर्जी मुकदमों में फंसा दूंगा घटना में  वह बहुत भयभीत  हैतथा मेरी चोटों को ध्यान में रखते हुए मेरा चिकित्सकीय परीक्षण कराने का कष्ट करें एवं विपक्षी विशाल मिश्रा आकाश मिश्रा एवं अन्य के विरुद्ध सरकारी कार्य में बाधा डालने अनुसूचित जनजाति निवास अधिनियम के अंतर्गत एवं मारपीट एवं जानलेवा हमला एवं लूटपाट 2000 लूटे गए के संदर्भ में सुसंगत धाराएं लगाते हुए प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करते हुए आवश्यक कार्रवाई  की  मांग की है।

-पूरे प्रकरण की जांच की उठी मांग

सीतापुर। ग्राम विकास अधिकारी द्वारा तहरीर दिये जाने के बाद अब क्षेत्र के जागरूक भी पूरा इंसाफ मिलने की बात करने लगे है। ग्रामीणों का कहना है कि पहले तो ब्लाक की सभी ग्राम पंचायतो में आवास, शौचालय और मनरेगा कार्यो की जांच करवाई जाये उसके बाद जो जांच की आख्या व जांच में तथ्य मिले उसको आधार मानकर कार्यवाही की जाये। क्येाकि हर ब्लाक में सचिव, प्रधान व शौचालय में एडीओ पंचायत द्वारा बड़े पैमाने पर घेाटाले किये जा रहे है। भुगतान भी हो रहे है भले ही जेई को पंचायत राज विभाग के किसी भी खाते से पैसा निकालने का अधिकार नही है लेकिन जब प्रधान अथवा सचिव पैसा निकालता है तो आगणन रिपोर्ट तो जेई ही देता है इस कारण  हर घोटाले में जेई का भी अहम रोल रहता है इस कारण पहले उक्त योजनाओं की जांच की जाये उसके बाद जो तथ्य सामने आये उसको आधार मानकर कार्यवाही की जाये। बताया यह भी जा रहा है कि ग्राम विकास अधिकारी की पिटाई का कारण भी घोटालेबाजी व दोबारा रकम मांगने से जुड़ा है इस कारण सचिव व उनके सहयोगी पर भी कार्यवाही होनी बहुत जरूरी है। 


टिप्पणियाँ

Abhi ने कहा…
Sahi huwa ye SB paisa lekr Ghapla krte h.jise Dena use nhi dete h colony k badle paise lete h sale sb Chor h malihabad blocj me bhi yhi haal h .. pradhan k saath mil it public ko lootate h aaur pelo walo ko.

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव