शुभम हत्या काण्ड में गवाहों को फंसाने की साजिश, डीएम से शिकायत

 


वादिनी और गवाहों को जान का खतरा

सीतापुर। आखिर सचिन कितना बड़ा दबंग है क्या वह अपने क्षेत्र में अपराध और दबंगता का राज्य कायम कर देगा? वैसे प्रधान सचिन को ही कहा जा रहा है लेकिन विगत दिवस जो सुनने में आया है कि लोग प्रधान तो सचिन को ही कहते हेै लेकिन प्रधान सचिन न होकर उसकी मां है और सचिन बतौर प्रधान प्रतिनिधि के रूप में प्रधानी का काम काज देख रहा है। कत्ल के आरेाप में जिला कारागार में निरूद्ध अपने साथियेां को बचाने के लिये प्रधान सचिन जतन कर रहा हैं। जब वादिनी चमेली नही मानी तो तो प्रधान व उसके साथियों ने कत्ल के गवाह श्री धर यादव पुत्र सेवाराम निवासी ग्राम महेशपुर चिलवारा थाना खैराबाद के घर धावा बोलकर उसके साथ अभद्रता कर रहे है तमन्चों की नोक पर उसको डरा धमका रहे है। इतना ही गवाह न डर रहा है तो उसको विरूद्ध साजिशे की जा रही है गवाह को फंसाने की कोशश स्वयं प्रधान  सचिन व उनके साथी कर रहे है। सचिन किसी भी कीमत पर कोई भी मोल चुकाकर जेल में निरूद्ध अपने साथियेां को बचाना चाह रहा है। वादिनी चमेली द्वारा जिलाधिकारी दिये गये प्रार्थना पत्र में स्पष्ट कहा है कि सचिन प्रधान व उसके साथी विगत छः जून को शुभम हत्याकाण्ड के गवाह श्रीधर के गये और उसको तमन्चों की नोक पर धमकाया और गवाही देने से मना किया। जब उक्त लोग श्रीधर के गये तो उस समय चमेली भी वही बैठी थी चमेली ने इसका विरोध किया तो चमेली के साथ भी उक्त उक्त लोगों ने अभद्रता की और उसको भी धमकाया तथा पूरे परिवार को गोली से उड़ा देने की धमकी तक डे डाली। गवाहों को तोड़ने मरोड़ने व वादिनी पर सुलह समझौता करने का दबाव सबसे अधिक सचिन प्रधान के खास साथी जैनेन्द्र पुत्र शिव शंकर मिश्रा निवासी महेशपुर चिलवारा थाना खैराबाद द्वारा बनाया जा रहा है। सचिन का यह साथी भी दंबग व अपराधिक प्रवृत्ति का होना बताया जा रहा है। हलांकि चमेली ने सुरक्षा की दृष्टि से हर घटना के से जिलाधिकारी को अवगत करवा दिया है। गौरतलब हो कि उक्त गांव निवासी चमेली के पुत्र का कत्ल पूर्व में किया जा चुका है। इस मामले की नामजद रिपोर्ट दर्ज करवाई गयी थी जिसमें पुलिस ने सभी आरोपियों को बन्दी बनाकर जेल भेज दिया है। इस समय सभी आरोपी जेल की सलाखों के पीछे अपने गुनाहों की सजा काट रहे है। मामला न्यायालय में चल रहा हैं। बताया जा रहा हे कि कत्ल के मजबूत साक्ष्य भी पुलिस के पास है इस कारण सचिन प्रधान जो दबंग छवि वाला होना बताया जा रहा है कि वह काफी परेशान है क्येाकि शुभम का कत्ल सचिन की ही साजिश का परिणाम है। इस कारण सचिन अपने साथियों को बचाने के लिये हर जतन आजमा रहा है। चर्चा यह भी की जा रही है कि इस समय चमेली व चमेली के परिवार के साथ गवाहों की भी जान को खतरा है। क्येाकि सचिन अपने साथियेां के साथ चमेली से लेकर गवाहों पर दबाव बना रहा है। अगर सचिन अपनी मांशा में कामयाब न हुआ तो वह जोश में आकर दूसरी साजिश भी रच सकता है इस तरह की चर्चा की जा रही है। इस काण्ड को लेकर गांव में भी दहशत का माहौल बना हुआ हैं। गांववालों और जानकारों का कहना है कि ग्राम महेशपुर चिलवारा की दशा ठीक नही है हालातों को ध्यान मे ंरखते हुए पुलिस को इस ओर विशेष ध्यान देना चाहिए ताकि इस गांव में खून के परनाले न बहने पाये। हालंकि घटना की पूरी जानकारी जिलाधिकारी को दी जा चुकी है इस कारण अनुमान लगाया जा रहा है कि जिलाधिकारी द्वारा इस घटना क्रम पर गम्भीरता के साथ ध्यान दिया जा रहा है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक