सी.एम.एस. छात्रा संयुक्त राष्ट्र की कोविड रिलीफ अम्बेस्डर इंटर्नशिप हेतु चयनित

 


लखनऊ,
16 मई। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, राजेन्द्र नगर (प्रथम कैम्पस) के कक्षा 11 की प्रतिभाशाली छात्रा यामिनी मिश्रा ने अपनी सेवा भावना एवं उच्च मानवीय मूल्यों की बदौलत संयुक्त राष्ट्र संघ के स्वयंसेवक समूह में कोविड राहत राजदूत के तौर पर प्रशिक्षण हेतु चयनित होकर लखनऊ का नाम गौरवान्वित किया है, साथ ही सी.एम.एस. द्वारा प्रदान की जा रही भौतिक, नैतिक व चारित्रिक शिक्षा पद्धति का परचम लहराया है। सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीशी गाँधी ने यामिनी के अत्यन्त उज्जवल भविष्य की कामना करते हुए कहा कि सी.एम.एस. के छात्र अपनी सेवा भावना, ज्ञान, परिश्रम व लगन से विश्व मानवता की सेवा सदैव अग्रणी रहे हैं, यही सी.एम.एस. की सबसे बड़ी सफलता है। हमारा सदैव यही प्रयास है कि सी.एम.एस. का प्रत्येक छात्र विश्व नागरिक बनाकर समाज का प्रकाश बने और समाज के रचनात्मक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाये। कोविड महामारी के इस दौर में ऐसे ही विश्व नागरिकों की आज महती आवश्यकता है।

सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि संयुक्त राष्ट्र वालन्टियर्स (यूएनवी) संयुक्त राष्ट्र संघ की माॅडल एजेंसी है जो स्वयंसेवा के माध्यम से दुनिया भर में शांति और विकास में योगदान करती है। इस कार्यक्रम से जुड़ने हेतु समाज सेवा व सामाजिक सहयोग की प्रतिबद्धता की आवश्यकता होती है। श्री शर्मा ने बताया कि सी.एम.एस. अपने छात्रों को शुरूआत से ही सामाजिक विकास व सामाजिक जागरूकता के कार्यो में प्रतिभाग हेतु प्रोत्साहित करता है। यही कारण है कि सी.एम.एस. के छात्र सामाजिक विकास के कार्यो में सदैव अग्रणी रहते हैं। सी.एम.एस. का लक्ष्य बच्चों को वल्र्ड लीडर के रूप में तैयार करने वाली शिक्षा उपलब्ध कराना है, ताकि वे कल के विश्वव्यापी समाज का नेतृत्व अपने विकसित मानवीय दृष्टिकोण से कर सके।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक