दलितों के मसीहा डॉक्टर शत्रोहन सिंह यादव ने इस दुनिया को कहा अलविदा


 बिसवां नगर (सीतापुर)।
समाजवादी चिंतक लोहिया के आदर्शों पर चलने वाले दलितों के मसीहा डॉक्टर शत्रोहन सिंह यादव ने इस दुनिया को अलविदा कहा डॉक्टर शत्रोहन का निधन तड़के हृदय गति रुक जाने के कारण लखनऊ में चरक अस्पताल में हो गया था। वह अपने पीछे पत्नी, पांच पुत्रियां व एक पुत्र छोड़ गए हैं। मुखाग्नि उनके पुत्र अभय वीर सिंह ने दी। वह बिसवां नगर के लोकप्रिय चिकित्सक के रूप में विख्यात थे। झांसी आयुर्वेद विश्वविद्यालय से चिकित्सा विज्ञान में परास्नातक थे कुछ वर्षों तक सरकारी सेवाये देने के बाद, विगत चालिस वर्षों से प्राइवेट चिकित्सक के रूप में सेवाएं दे रहें थे। समाजवादी विचारों के होने के बावजूद सभी की सेवा में ताललीन रहते थे। गरीबों के मसीहा, सांस्कृतिक गतिविधियों में सक्रिय रहते थे। होली उत्सव के वह सिरमौर अनेक वर्षों से बने थे। नगरवासियों ने नम आंखों से उनको श्रद्घांजलि दी। नगर में शोक का वातावरण छा गया। अंतिम संस्कार के समय के समय विदा देने वालों में विधायक महेंद्र सिंह यादव, पूर्व विधायक रामपाल यादव, वरिष्ठ साहित्यकार पत्रकार पद्मकांत प्रभात, शमीम कौसर सिद्दीकी आदि प्रमुख लोगों के अलावा स

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक