जनता द्वारा किये जा रहे कोरोना प्रोटोकाल के पालन का दिखा जिले में असर


 पिछले दो दिनो से घटा कोरोना का ग्राफ लेकिन मौतो के ग्राफ मामूली अंतर

जिले को सख्त लाॅकडाउन की जरूरत

सीतापु। जनता द्वारा स्वेच्छा से सख्त लाॅकडाउन का पालन किया जाने लगा है। पिछले दो दिनों से इसका अंतर भी दिखाई देने लगा है। अगर जनता इसी तरह से सख्ती के साथ लाॅकडाउन और कोरोना प्रोटोकाल का पालन करती है तो कोरोना निश्चित तौर पर हारेगा और एक बार फिर से प्रभावित हुआ जन जीवन पटरी पर आ जायेगा। स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन तो पहले से ही जुटा हुआ था बस जनता का इंतजार था कि जनता भी  प्रशासन का साथ दे और कोरोना प्रोटोकाल का पालन सख्ती के साथ करे कोरोना के ताण्डव को देखते हुए जनता जागरूक हो गयी और कोरोना को मात देने के लिये जनता प्रोटोकाल का पालन बेहद सख्ती के साथ करने लगी है जिसका असर अब सरकारी आंकड़ो में दिखाई देने लगा है। यह  जिले में कोरोना संक्रमण को लेकर राहत भरी खबर है। बीते एक दिन में 64 लोग संक्रमित मिले हैं। लेकिन मौतों की बढ़ती संख्या परेशान कर रही है। कोरोना की चपेट में आकर चार लोगों की मौत हो गई है। जिले में कोविड से मरने वालों की संख्या 162 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि पिछले 24 घंटे में 2132 लोगों का सैंपल लेकर जांच की गई। इसमें 64 लोग संक्रमित मिले हैं। इनका इलाज शुरू हो गया है। गांवों में आशा कार्यकर्ता के माध्यम से दवाओं की किट दी गई है। गंभीर संक्रमित मरीजों को एल-टू में भर्ती कराया गया है। कोविड से मौतों का सिलसिला जारी है। स्वास्थ्य विभाग के पोर्टल पर चार लोगों की मौत की सूचना फीड की गई है। विभाग अब इन मौतों की जानकारी जुटा रहा है। जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या 158 से बढ़कर 162 हो गई है। जिले मेें एक्टिव केस घटकर 1364 हो गए है। सीएमओ डॉ. मधु गैरोला ने बताया संक्रमण कम जरूर हुआ है। लेकिन मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते रहे। इससे हम लोग कोरोना को हराने में कामयाब होंगे। जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज ने बताया कि कोविड संक्रमण से बचाव के लिए जनपद स्तर पर एकीकृत कोविड कमांड एंड कंट्रोल सेंटर बनाया गया है। यह सेंटर 24 घंटे संचालित है, जिसके नंबर 05862-242400 व 05862-240009 हैं। इसमें अधिकारियों, चिकित्सकों एवं कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। काई भी इन नंबरों पर कोविड-19 से संबंधित किसी भी समस्या के लिए संपर्क कर सकता है। मरीज जो होम आइसोलेशन में हैं, वे चिकित्सीय परामर्श चाहते हैं तो इन नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं। जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज ने बताया कि अस्पताल में खाली और भरे बेड की जानकारी अब पोर्टल के माध्यम से मिलेगी। यदि आपका मरीज होम आइसोलेशन में है और ऑक्सीजन की जरूरत है तो चिकित्सक की संस्तुति व अन्य निर्धारित प्रपत्रों के साथ अपने जिले के निर्धारित नजदीकी रिफिलिंग सेंटर पर संपर्क कर सकते हैं। यदि वहां निर्धारित प्रपत्र दिखाने पर भी ऑक्सीजन नहीं मिल रही तो नोडल अधिकारी बनाए गए तहसीलदार (तहसील सदर) के मोबाइल नंबर 9454416550 पर फोन करके मदद मांग सकते हैं। मंडलायुक्त रंजन कुमार ने सोमवार को नोडल अफसर की तैनाती कर दी है। जब कोरोना का संक्रमण कम हो रहा है तो मरीजों की संख्या भी तेजी से घट रही है। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि सीएचसी खैराबाद में बने एल-टू अस्पताल व हिन्द अस्पताल अटरिया में अब एक भी मरीज भर्ती नहीं है। केवल जिला अस्पताल में 17 मरीज व एक मरीज जिला महिला अस्पताल में भर्ती है। 1164 मरीज होम क्वारंटीन है। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक