सरकार की मंशा है कि जल्द से जल्द उत्तर प्रदेश सहित पूरा देश कोरोना संक्रमण से मुक्त हो: मिनिस्ती एस


 सिधौली (सीतापुर)।
सिधौली सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को कोविड अस्पताल बनाये जाने के प्रक्रिया लगभग पूरी हो चुकी है। कोरोना की तीसरी लहर  आने से पूर्व ही स्वास्थ्य विभाग सतर्क है और जिसकी तैयारियां पूरी हों रही है। जल्द ही सीएचसी को 50 बेड का एल प्लस अस्पताल में तब्दील हो  जाएगा। जिससे कोरोना संक्रमित मरीजों को बेहतर इलाज मिल सकेगा और तीसरी लहर आने से पूर्व हम सतर्क है। यह बात नोडल अधिकारी मिनिस्ती एस ने सीएचसी सिधौली में निरीक्षण के दौरान कही। उन्होंने कहा कि सरकार की मंशा है कि जल्द से जल्द उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश कोरोना संक्रमण से मुक्त हो और जो कोरोना संक्रमित मरीज है। जिन्हें बेहतर इलाज मुहैया हो सके जिसके लिए सीतापुर जनपद के सिधौली सीएचसी को प्रशासन द्वारा  कोविड एल प्लस अस्पताल में परिवर्तित किया जा रहा है। जिसके लिए व्यापक प्रबन्ध किये जा रहे तीसरी लहर आने से पूर्व स्वास्थ्य विभाग व सरकार पहले से इंतजाम कर लेना चाहती है। जिससे कम से कम लोग इसकी चपेट में आये और जो तीसरी लहर से संक्रमण की चपेट में आते हैं। उन्हें बेहतर इलाज मिल सके। आज नोडल अधिकारी ने सीएचसी स्थित नई इमारत का निरीक्षण किया और कोविड एल प्लस अस्पताल बनाने के आने वाली दिक्कतों को दूर करने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त उन्होंने कस्बा स्थित मोहल्ला नरोत्तम नगर कन्टेंटमेंट जोन का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने अधिशासी अधिकारी सर्वेश शुक्ल ने कस्बे के कुल कन्टेंटमेंट जोन के बारे में जानकारी की। जिस पर सर्वेश शुक्ल ने बताया कि कस्बे में कुल 11 कन्टेंटमेंट जोन  है। इसके पूर्व नोडल अधिकारी ने मउ स्थित हिन्द अस्पताल में बने कोविड एल टू अस्पताल निरीक्षण किया ओर दिशा निर्देश दिए। सिंहपुर ग्राम पंचायत में भी नोडल अधिकारी मिनिस्ती इस पहुंची और विभिन्न बातों का निरीक्षण किया। इस अवसर पर उपजिलाधिकारी सन्तोष कुमार राय, सीओ रामकुमार साव, एसीएमओ डॉ सुरेंद्र शाही, सीएचसी अधीक्षक डॉ आरके वर्मा सहित स्वास्थ्य बिभाग के कर्मचारी व अधिकारी मौजूद रहे। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक