मुन्नी को 'दाना' बना गैंगस्टर सुभाष पाल ज़िला पंचायत अध्यक्ष पद कब्जाने को बिछा रहा है 'जाल'

 


हिस्ट्रीशीटर सपा नेता सुभाष पाल धन-बल के सहारे परोक्ष रूप से अध्यक्ष पद का रिमोट हासिल करने के फेर में

हरदोई।त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की प्रक्रिया सम्पन्न होने के बाद अब बारी ज़िला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुखों के निर्वाचन की है। प्रशासकों का कार्यकाल शेष होने और कोरोना महामारी की आड़ में योगी सरकार को इन चुनावों की बेहतर तैयारी का समय मिल गया है। वहीं, विपक्ष भी इन पदों पर अपना सिक्का जमाने को कमर कस रहा है। खासकर, ज़िला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए सपा ज़ोर-आजमाइश की तैयारी में है, ऐसी सुगबुगाहट सियासी गलियारों में है।
        ज़िला पंचायत अध्यक्ष पद प्रत्याशी के लिए सूबे में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी में अभी असमंजस की स्थिति बनी हुई है। वहीं, मुख्य विपक्षी दल समाजवादी पार्टी के गलियारों में बतौर प्रत्याशी मुन्नी देवी जाटव का नाम तैर रहा है। मुन्नी सपा नेता गैंगस्टर सुभाष पाल के संरक्षण में सुरसा प्रथम वार्ड से ज़िला पंचायत सदस्य निर्वाचित हुईं हैं। मुन्नी देवी और उनके परिवार की अपनी कोई राजनीतिक पृष्ठभूमि नहीं है। साथ ही मुन्नी की शैक्षिक योग्यता मात्र हस्ताक्षर अक्षर ज्ञान है। दो दर्जन से अधिक आपराधिक मामलों का आरोपी सुभाष पाल मुन्नी को सपा प्रत्याशी घोषित करवा धन-बल के सहारे ज़िला परिषद की सत्ता पर काबिज होने की फिराक में है। इसके लिए उसने बिसात भी बिछा दी है। भद्र राजनीति से जुड़े लोग कहते हैं कि हत्या के प्रयास, डकैती, लूट, अपहरण, रंगदारी व गुण्डा एक्ट जैसे संगीन मामलों में आरोपी और घोषित शराब माफिया, शिक्षा माफिया व कालाबाजारी के संरक्षण में ज़िला परिषद अध्यक्ष का पद संचालित होना हरदोई के राजनीतिक इतिहास का काला अध्याय होगा।बता दें हरदोई ज़िला परिषद के अध्यक्ष पद को स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी मुनेश्वर बख्स सिंह व निरंजन सिंह देव, रघुनंदन शर्मा, बाबू मोहन लाल वर्मा, महेश सिंह, बाबू श्रीशचंद्र अग्रवाल और बृजराज दीक्षित आदि शख्सियतों ने सुशोभित किया.

इनसेट
हिस्ट्रीशीटर सुभाष पाल का आपराधिक ब्यौरा
हरदोई।2017 में बिलग्राम-मल्लावां विधानसभा क्षेत्र से सपा के टिकट पर चुनाव लड़े सुभाष पाल पर विभिन्न थानों में कोई दो दर्जन से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं, जिसमें सर्वाधिक संख्या उस सुरसा क्षेत्र में है, जहां से उसके संरक्षण में मुन्नी देवी ज़िला पंचायत सदस्य निर्वाचित हुई हैं। सुरसा क्षेत्र के गड़रियन पुरवा निवासी सुभाष पाल पुत्र शिवदयाल पर अकेले सुरसा थाने में ही दर्ज 23 आपराधिक मामलों की लम्बी फेहरिस्त है। इसके अलावा उसके विरुद्ध जनपद के थाना लोनार और फर्रूखाबाद के थाना राजेपुर में भी आपराधिक मामले दर्ज हैं। जनपद में विपिन मिश्रा के पुलिस अधीक्षक रहते उसके शराब के अवैध कारोबार को नेस्तनाबूद कर गैंगस्टर एक्ट की कार्यवाही हुई।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक