नोडल प्रभारी ने जान हथेली पर रखकर कर रही कोरोना अस्पतालों और कन्टोमेंट का निरीक्षण

 


कोरोना के हर सिस्टम को बेहतद बनाने की कोशिश जारी


सीतापुर । कोरेाना से जंग कर उसको सीतापुर से भगाने के लिये जिले की नोडल प्रभारी जान हथेली पर रखकर जंग के मैदान मं उतर चुकी है। वह लगातार कोरोना अस्पतालो और कन्टोमेंट जोनों का निरीक्षण करने के साथ ही कोरेाना रेागियों से बात कर हर सिस्टम को दुरूस्त करने में जुटी है। इसी क्रम में आयुक्त वाणिज्यकर एवं जनपद की नोडल अधिकारी श्रीमती मिनिस्ती एस0 ने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र महमूदाबाद एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहला का आकस्मिक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं को देखा। उन्होंने महमूदाबाद नगर क्षेत्र में कंटेनमेंट जोन का भी निरीक्षण किया तथा महमूदाबाद विकास खण्ड के ग्राम सेमरा स्थित प्राथमिक विद्यालय में निगरानी समिति के सदस्यों के साथ बैठक भी की। इससे पूर्व नोडल अधिकारी ने नगर पालिका महमूदाबाद एवं ग्राम सेमरा में राजस्व, स्वास्थ्य एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों तथा निगरानी समिति के सदस्यों के साथ बैठक की। नोडल अधिकारी ने निर्देश दिये लोगों को अधिक से अधिक टीकाकरण हेतु प्रेरित किया जाये। लक्षणयुक्त मरीजों को वितरित की जाने वाली दवाओं की पर्याप्त मात्रा में आशा एवं ए.एन.एम. को उपलब्धता सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश भी दिये। इसके अतिरिक्त सभी निगरानी समितियों को पल्स ऑक्सीमिटर एवं थर्मल स्कैनर भी उपलब्ध कराए जाने हेतु भी निर्देशित किया। नोडल अधिकारी ने निर्देश दिये कि निगरानी समितियां सघन जांच करें एवं लक्षण युक्त मरीजों की सूची तत्काल संबंधित स्वास्थ्य केन्द्र में उपलब्ध करायें। उपजिलाधिकारी को कड़े निर्देश दिये कि क्षेत्र भ्रमण के दौरान नियमित रूप से निगरानी समितियों के कार्यों का सघन निरीक्षण सुनिश्चित करें तथा कोरोना वायरस से बचाव के संबंध में जारी दिशा निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित करायें। नोडल अधिकारी ने सख्त निर्देश दिये कि एम0आर0पी0 से अधिक मूल्य पर दवाओं, मास्क, सेनेटाईजर, आक्सीमीटर आदि की बिक्री न की जाये, यदि कोई इसकी एम0आर0पी0 से अधिक मूल्य पर बिक्री करता है तो उसके विरूद्ध कठोर कार्यवाही अमल में लायी जाये। उन्होंने पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों को सघन चेकिंग अभियान चलाये जाने के भी निर्देश दिये। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र महमूदाबाद के निरीक्षण के दौरान नोडल अधिकारी ने फीवर हेल्पडेस्क, कोविड हेल्पडेस्क, जनरल वार्ड आदि का निरीक्षण किया। उन्होंने प्रस्तावित आक्सीजन प्लांट हेतु स्थल का भी निरीक्षण किया। उल्टी, दस्त, बुखार एवं अन्य सामान्य बीमारियों की दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करने तथा इनके प्रभावित मरीजों का कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुये बेहतर उपचार सुनिश्चित करने के निर्देश प्रभारी चिकित्सा अधिकारी को दिये। उन्होंने भर्ती मरीजों एवं दवा लेने आये मरीजों से वार्ता करके उन्हें प्राप्त स्वास्थ्य सेवाओं के विषय में जानकारी ली। होम आइसोलेशन मरीजों से फोन से वार्ता कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में पर्याप्त प्रकाश व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। इसके उपरान्त कंटेनमेंट जोन का निरीक्षण कर बेहतर स्वच्छता एवं सेनेटाईजेशन का प्रबंध सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। लोगों को भी सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क लगाये जाने एवं नियमित रूप से साबुन पानी से हाथ धोनें अथवा सेनेटाईजर का प्रयोग करने हेतु जागरूक किया। उन्होंने लोगों को टीकाकरण हेतु भी प्रेरित किया। नोडल अधिकारी ने निर्देश दिये कि 45 वर्ष से अधिक आयु के शिक्षकों, रसोईयों, चैकीदारों, होमगार्डों एवं अन्य फ्रन्टलाईन कार्यकर्ताओं को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण सुनिश्चित करने के निर्देश दिये।सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पहला के निरीक्षण के दौरान उन्होंने वैक्सीनेशन करा चुकी महिलाओं से वार्ता की एवं उन महिलाओं के माध्यम से अन्य लोगों को भी वैक्सीनेशन करने हेतु प्रेरित करने के निर्देश दिये।निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी विनय कुमार पाठक, जिला विकास अधिकारी राकेश कुमार पाण्डेय, उपजिलाधिकारी, पुलिस क्षेत्राधिकारी सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक