जिला जज को भर्ती कराने खुद पहुंचे CMO; हॉस्पिटल का प्रबंधक बोला- मेरा अस्पताल सीज करा दो, मुझे जेल में डाल दो

 


उत्तर प्रदेश के कानपुर में जिला प्रशासन की तरफ से बनाए गए कोविड प्राइवेट हॉस्पिटल के क्या हाल हैं। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि कानपुर कोर्ट के जिला जज को ही इलाज मिलने में परेशानी हो गई। खास बात यह है कि बीमार जज को एडमिट कराने के लिए खुद मुख्य चिकित्सा अधिकारी (CMO) पहुंचे थे।

हालात ये थे कि जब CMO ने प्राइवेट अस्पताल के प्रबंधक को फोन पर मामले की जानकारी दी तो वे भड़क गए। संचालक ने धमकी भरे अंदाज में CMO से यहां तक कह दिया कि जो करना है वह करो, मेरा अस्पताल सीज करा दो, मुझे जेल भेज दो।

इसके बाद CMO ने अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ पनकी थाने में केस दर्ज करा दिया। सवाल यह है कि अगर CMO के साथ यह सलूक हो रहा है तो आम आदमी से ये प्राइवेट अस्पताल क्या व्यवहार करते होंगे।

जज हुए थे संक्रमित
बुधवार को कानपुर के जिला जज आर.पी सिंह कोरोना संक्रमित पाए गए थे। उन्हें पनकी स्थित कोविड प्राइवेट हॉस्पिटल नारायणा में भर्ती कराने के लिए CMO डॉ अनिल कुमार मिश्र ने कागजी कार्रवाई पूरी की।फिर वे सिंह को लेकर अस्पताल पहुंचे। लिफ्ट से वे सिंह को फर्स्ट फ्लोर पर ले जा रहे थे। यह बंद हो गई।

15 से 20 मिनट फंसे रहने के बाद वे किसी तरह बाहर निकले। जहां जिला जज को भर्ती होना था, वहां न तो डॉक्टर था और न ही कोई अटेंडर। इसके बाद CMO ने अस्पताल के मैनेजमेंट को फोन किया। इस दौरान कई मरीजों ने रोते हुए अस्पताल में फैली अव्यवस्थाओं की जानकारी दी।

‘जेल भिजवाना है भिजवा दो’
CMO के फोन करने के बाद भी मैनेजमेंट ने कोई सही जवाब नहीं दिया। तब उन्होंने हॉस्पिटल के मालिक अमित नारायण को फोन किया और अस्पताल के हालात की जानकारी दी। इस पर अमित भड़क गए। उन्होंने CMO से कहा- मेरा अस्पताल सीज करा दो। मुझे जेल भेज दो। इसके बाद CMO सीधे पनकी थाना पहुंचे। अस्पताल के प्रबंधक और डॉक्टरों व कर्मचारियों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई।

क्या बोले डीसीपी वेस्ट
मामले को लेकर डीसीपी वेस्ट संजीव त्यागी ने बताया-पनकी थाने में CMO कानपुर की तरफ से एक लिखित शिकायत प्राप्त हुई है। इसके आधार पर नारायण अस्पताल के प्रबंधक अमित नारायण, डॉक्टरों व कर्मचारियों के खिलाफ धारा-166 बी, 269, 270, 188, 506 और महामारी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक