दारोगा को थप्‍पड़ मारकर भागने वाले लड़के को पुलिस ने पिता के साथ किया गिरफ्तार


उत्‍तर प्रदेश के कुशीनगर के चौकी इंचार्ज को थप्पड़ मार कर भागने वाला युवक अवैध शराब का कारोबारी निकला। वह घर पर अंग्रेजी शराब व बियर स्टोर कर कार से बिहार में तस्करी करता था। इस धंधे में उसका पिता भी सहयोगी था। पुलिस ने युवक व उसके पिता को गिरफ्तार कर लिया है। उसके घर से 865 बोतल अंग्रेजी शराब व बियर के अलावा कार भी बरामद की गयी है।    

सोशल मीडिया पर एक दिन पूर्व फाजिलनगर का एक वीडियो वायरल हुआ था। इसमें मास्क जांच कर रहे चौकी प्रभारी फाजिलनगर दिग्विजय सिंह को एक युवक थप्पड़ मार कर फरार होते  दिख रहा है। पास खड़े सिपाही ने उसका पीछा किया था मगर वह कुछ ही देर में नजरों से ओझल हो गया था। मामले में पुलिस की किरकिरी होने के बाद पटहेरवा थाने में अज्ञात युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। प्रभारी निरीक्षक सुनील कुमार सिंह ने उक्त युवक की पहचान कराने वाले को एक हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की थी। इसी बीच मुखबिर ने पुलिस को सूचना दी कि अशोगावा निवासी राम अवध राय का पुत्र विकास राय उर्फ गोरख राय वह युवक है जो वीडियो में दरोगा को थप्पड़ मार कर भागते दिख रहा है।

पुलिस क्षेत्राधिकारी तमकुहीराज ने प्रेस वार्ता के दौरान बताया कि आरोपी युवक की पहचान होने के बाद पुलिस तत्काल उसकी गिरफ्तारी के लिये उसके घर दबिश देने पहुंची तो आरोपी युवक पुलिस को देखते ही घर से भागने का कोशिश करने लगा। पुलिस दौड़ाकर उसे पकड़ लिया। इसी दौरान पुलिस को एक कमरे में शराब की पेटियां दिखी। इसके बाद घर की तलाशी लेने पर आरोपी के घर से 865 बोतल विभिन्न ब्रांड के अंग्रेजी शराब व 16 बोतल बीयर के अलावा साथ एक कार भी बरामद की गयी। युवक से कड़ाई से पूछताछ की गयी तो उसने स्वीकार किया कि वह घर पर शराब स्टोर कर कार से बिहार में तस्करी करता है। इस काम में उसका पिता भी सहयोग करता है। इसके बाद उसके पिता को भी अवैध शराब के कारोबार के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया।

प्रभारी निरीक्षक सुनील कुमार सिंह ने बताया कि अवैध शराब के कारोबार में विकास के साथ अन्य दो लोग भी शामिल हैं। उनकी तलाश की जा रही है। जल्द ही उन्हें भी दबोच लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि युवक की गिरफ्तारी पुलिस के लिए चुनौती थी जिसे गिरफ्तार कर कर लिया गया है। इसके अलावा भी कोई अराजक तत्व कानून हाथ में लेने का प्रयास करता है तो उसके खिलाफ कठोर कार्यवाही की जायेगी। गिरफ्तार करने वाले टीम में उपनिरीक्षक पीएन सिंह, मंगेश मिश्र, प्रभात यादव, शशांक राय, विवेक कुमार तिवारी के साथ कांस्टेबल सूरज गिरी, नीरज कुमार, मंगेश कुमार, उमाशंकर यादव आदि शामिल रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक