गंगा एक्सप्रेस-वे में अधिग्रहित भूमि के नए सर्किल रेट के मुआवजे की मांग, किया प्रदर्शन


 
हरदोई:किसान यूनियन के नेतृत्व मे सैकड़ों किसानों ने जिला अधिकारी कार्यालय के बाहर जोरदार प्रदर्शन करते हुए गंगा एक्सप्रेस- वे के लिए अधिग्रहण की जाने वाली भूमि का नए सर्किल रेट से मुआवजे की मांग के साथ ही लेखपालों द्वारा जबरिया सहमति पत्र पर हस्ताक्षर करवाने पर रोक लगाए जाने की मांग की है। 

     भूमिहीन हो रहे किसानों के परिजनों को सरकारी नौकरी दिलवाने की मांग के साथ जबरिया सहमति पत्र भरवाए जाने से राजस्व विभाग के कर्मचारियों को रोकने की मांग की गई है। किसान यूनियन ने आज सैकड़ों किसानों के साथ प्रदर्शन करते हुए कहा कि गंगा एक्सप्रेस-वे के अंतर्गत आने वाले ग्राम सभा बेरूआ, निजामपुर, शेरपुर, बसहर आदि की भूमि की अधिग्रहण संबंधी कोई भी अधिसूचना प्रकाशित नहीं कराई गई, इसके बावजूद क्षेत्रीय लेखपाल किसानों को डरा धमका कर हस्ताक्षर करवा रहे हैं। 
       किसान यूनियन ने मांग की है कि रोड किनारे की भूमि का अलग से सर्किल रेट निर्धारित किया जाए। ज्ञापन में कहा गया है कि बिलग्राम के निकट गांव की जमीन बहुत ही कीमती है इसलिए इस जमीन का मुआवजा कीमत के हिसाब से दिया जाए। साथ ही किसानों के परिजनों को सरकारी नौकरी भी दी जाए। गंगा एक्सप्रेस-वे के लिए जो भी भूमि अधिग्रहण की जाए उसका मुआवजा पुराने सर्किल रेट के बजाय नए सर्किल रेट से दिया जाए। ज्ञापन में कहा गया है कि पूरे प्रकरण की जांच करवा कर किसानों की समस्या को संज्ञान में लिया जाए।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक