प्रेमिका के पति की पिटाई से आहत युवक ने फांसी लगाकर दी जान

 


पाली(हरदोई)। थाना क्षेत्र के ग्राम सांडीखेड़ा गांव में ईंट भट्ठे के पीछे झड़ियों में संदिग्ध परिस्थितियों में एक युवक का शव फांसी के फंदे से झूलता मिला। परिजनों ने प्रेमिका व उसके पति पर युवक की पिटाई व आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप लगाया हैं। फिलहाल सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया हैं। 

      पाली थाना क्षेत्र के ग्राम भगवंतपुर निवासी लालाराम के 6 बेटे हैं। तीसरे नम्बर का बेटा वीरा ( 20 ) गुजरात के अहमदाबाद में रहकर नौकरी करता था। बताया जाता हैं कि वीरा का मझिला थाना क्षेत्र के गौटिया गांव की एक विवाहित महिला से पिछले चार साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। भाई भूदर ने बताया कि 5 दिन पहले वीरा अहमदाबाद से लौटा और सीधे घर न आकर गौटिया में अपनी प्रेमिका के घर पहुंच गया। रात को वीरा को अपनी पत्नी के साथ हमबिस्तर देख महिला के पति ने वीरा की जमकर पिटाई कर दी और घर से धक्के देकर निकाल दिया। इसके बाद वीरा अपने घर भगवंतपुर आया। 
      भाई भूदर ने बताया कि उसका भाई वीरा प्रेमिका के पति की पिटाई से काफी खिन्न था और खुद को खत्म कर लेने की बात कह रहा था लेकिन परिजनों के समझाने पर वीरा शांत हुआ और गुरुवार की सुबह 100 रुपये घर से मांगकर चला गया। भाई भूदर के मुताबिक इसके बाद उसका फोन स्वीच ऑफ आने लगा, परिजनो से समझा कि वीरा सम्भवतः काम के सिलसिले में अहमदाबाद चला गया होगा। लेकिन शुक्रवार को दोपहर ग्राम सांडीखेड़ा के पास बांके शुक्ल ईंट भट्ठे के पीछे चरवाहों को एक युवक का शव गमछे से शीशम के पेड़ से लटकता मिला। 
    चरवाहे की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव की शिनाख्त कराई तो उसकी पहचान भगवंतपुर के वीरा के रूप में हुई। भाई भूदर ने आरोप लगाया कि वीरा की प्रेमिका और उसके पति के उकसाने पर ही उसके भाई ने खुदकुशी कर ली । हालांकि परिजनों की ओर से अभी तक कोई तहरीर नहीं दी गई थी। थानाध्यक्ष विनोद कुमार गोस्वामी ने बताया कि शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया हैं, पुलिस खुदकुशी के मामले की जांच कर रही हैं। परिजनों की ओर से लगाये जा रहे आरोपो के बाबत कोई तहरीर नहीं मिली हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव