त्यौरी मतुआ के तालाब पर वर्ल्ड वेट लैंड डे मनाया गया


 कछौना (हरदोई)।कछौना की ग्राम सभा त्यौरी मतुआ के तालाब पर वर्ल्ड वेट लैंड डे मनाया गया। यहां पर काफी खेत में तालाब, पोखर, दलदली भूमि के रूप में मौजूद है। 

            इस अवसर पर वन क्षेत्राधिकारी रामचंद्र ने कहा वेट लैंड को किडनीज ऑफ द स्केप यानी भूमि के दृश्य के गुर्दे भी कहा जा सकता है। जिस प्रकार से हमारा शरीर में जल को शुद्ध करने का काम किडनीज (गुर्दे) द्वारा किया जाता है। पर्यावरण के संतुलन और मानव के जीवन यापन के लिए अत्यंत आवश्यक है। क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता पी०डी० गुप्ता ने ग्राम पंचायत त्यौरी मतुआ के गाटा जल क्षेत्र है जिसमें राज्य पक्षी सारस बहुतायत में आते हैं। दर्जनों सारस पक्षी दूर दराज से आकर विचरण करते हैं। इसका मनमोहक दृश्य आँखों को आन्नदित करता है। यह पर्यावरण मित्र माने जाते हैं। वन विभाग द्वारा समय-समय पर गिनती करा कर शासन को रिपोर्ट भेजी जाती है। सारस के संरक्षण से पर्यावरण के संरक्षण को बल मिलेगा। यह किसान के शत्रु कीटों को अपने भोजन के रूप में खाते हैं। जिससे फसल को सुरक्षा मिलती है।जनमानस द्वारा इस क्षेत्र को पक्षी सारस के संरक्षण क्षेत्र के रूप में विकसित किए जाने की मांग लगातार उठा रहे हैं। यह क्षेत्र सारस के प्रजनन के लिए महत्वपूर्ण हैं। वेट लैंड होने से प्रदेश के पर्यावरण मानचित्र में क्षेत्र को पहचान मिलेगी। 
     ग्राम प्रधान के प्रस्ताव पर विधायक रामपाल वर्मा ने भी वेट लैंड सारस पक्षी केंद्र के लिए शासन को पत्र लिखकर भेजा है।इस अवसर पर वन कर्मी के०पी० सिंह, राजेंद्र सिंह, ग्राम प्रधान प्रतिनिधि शैलेंद्र कुमार, शिक्षिका सुशीला देवी व बच्चों ने प्रतिभाग किया। दूरबीन से पशु-पक्षियों के करतब लोगों ने लुफ्त उठाया। स्थानीय नागरिकों के प्रयास से भविष्य में सारस पक्षी केंद्र स्थापित होने की उम्मीद है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव