प्रधानमंत्री सरकारी आवास पात्र लाभार्थियों को न देकर अपात्रों को किये गये वितरित


 मिश्रिख (सीतापुर)।
विकासखंड मिश्रिख की ग्राम पंचायत इस्लाम नगर में ग्राम प्रधान व पंचायत सचिव द्वारारा प्रधानमंत्री सरकारी आवास पात्र लाभार्थियों को न देकर अपात्रों को वितरित किए गये है। यहां के मजरा किशुनपुर निवासी आशीष पुत्र पंचम ने पंचायत सचिव पर सुविधा शुल्क मांगने का आरोप लगाते हुए उपजिलाधिकारी एवं खंडविकास अधिकारी सहित मुख्यमंत्री जनसुनवाई पोर्टल पर सिकायत दर्ज कराकर कार्यवाही करने की मांग की है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि वह गरीबी रेखा से नीचे रहकर एक छप्पर के नीचे परिवार का भरण पोषण कर रहा है। पीडि़त का ग्राम पंचायत की वीपी एल सूंची में नाम भी है। बीते दो मांह पहले पंचायत सचिव पीडि़त के झोपडी़ की फोटो भी खींच ले आए थे। पीडि़त ने फोटो बनवाने के बावत 100 रुपये भी दिया था। लेकिन सिकायतकर्ता का आरोप है कि ग्राम पंचायत सचिव ने उसे बुलाया और पांच हजार रुपए बतौर सुविधा शुल्क की मांग करते हुए कहा कि ब्यवस्था करो आवास सीघ्र दिलवा दूंगा। लेकिन प्रार्थी अति गरीब होने के कारण सुबिधा शुल्क देने में असमर्थता जताई । तो सरकारी आवास देने से मना कर दिया । पीड़ित का आरोप है । कि ग्राम पंचायत में जादातर अपात्रों को आवास दिए गये है । दूसरी ग्राम पंचायत रामपुरग्रंट के रहने वाले रामसेवक पुत्र रामपाल व रामपाल पुत्र श्यामलाल जो आपस में पिता पुत्र है। उनकी पहले से मकान भी पक्का बना हुआ है। एक ब्यक्ति को ग्राम पंचायत इस्लामनगर में सरकारी आवास प्रदान किया गया है। दूसरे ब्यक्ति को ग्राम पंचायत रामपुरग्रंट में सरकारी आवास की सुबिधा दी गई है। पीडि़त सिकायतकर्ता ने ग्राम पंचायत का स्थलीय निरीक्षण कराकर मामले में कार्यवाही करने की मांग की है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक