नए भारत की नई अर्थनीति का प्रकटीकरण हुआ, आम आदमी के सपनों को करेगा साकार: योगी आदित्यनाथ


लखनऊ
,मोदी सरकार ने आज अपना 2021-22 के लिए बजट पेश किया। इस बजट पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी ने खुशी जताई है। आदित्यनाथ ने वर्तमान आम बजट लोक कल्याणकारी, सर्वसमावेशी तथा 'आत्मनिर्भर भारत' की मंशा के अनुरूप है। बजट में किसान, मध्य वर्ग, गरीब, महिलाओं समेत प्रत्येक वर्ग का ख्याल रखा गया है। यह अर्थव्यवस्था को गति देने एवं देश के हर नागरिक को आर्थिक रूप से सशक्त करने का कार्य करेगा।

मील का पत्थर साबित होगा
योगी ने कहा कि भारत के इतिहास में पहली बार पेपरलेस बजट पेश किया गया। इसमें अंत्योदय की भावना दिखाई देती है। यह भारतीय अर्थव्यवस्था के उन्नयन में मील का पत्थर साबित होगा। इसके माध्यम से समाज के सभी वर्गों का सर्वांगीण विकास सुनिश्चित होगा। उन्होंने कहा कि कोरोना के कारण जब वैश्विक अर्थव्यवस्था संकट का सामना कर रही है, उस संक्रमण काल में ऐतिहासिक, व्यावहारिक और विकासोन्मुखी बजट है। यह बजट समस्त भारतीयों की वित्तीय अपेक्षाओं को पूर्ण करने वाला साबित होगा।

नए भारत की नई अर्थनीति
योगी ने कहा कि आज का आम बजट न केवल आम आदमी के सपने साकार करने, आमजन की आकांक्षाओं को आकार देने और देशवासियों की आशाओं को पूर्ण करने वाला है बल्कि देश को समृद्ध एवं शक्तिशाली राष्ट्र बनाने की दिशा में उठाया गया महत्वपूर्ण कदम है। बजट के सभी प्रस्तावों पर 'सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास' मंत्र का प्रभाव स्पष्ट दिखाई पड़ रहा है। यह 'नए भारत' की 'नई अर्थनीति' का प्रकटीकरण है।

भारत का अन्नदाता सशक्त होगा
स्वास्थ्य बजट में अभूतपूर्व वृद्धि और प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर स्वस्थ भारत योजना की सौगात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'स्वस्थ भारत' के संकल्प को पूर्णता प्रदान करेगी। अर्थव्यवस्था का 'ग्रोथ इंजन' कहे जाने वाले MSME क्षेत्र के लिए बजट में 15,700 करोड़ रुपए की घोषणा, रोजगार के अनेक अवसरों के सृजन के साथ 'आत्मनिर्भर भारत' की संकल्पना को साकार करेगा। भारत के कृषि विकास पथ को मजबूत बनाने हेतु नेशनल एग्रीकल्चर मार्केट (e-NAM) के अंतर्गत 1,000 मंडियों को और लाया जाएगा। माइक्रो इरिगेशन फंड में 5,000 करोड़ रुपए के अतिरिक्त आवंटन से भारत का अन्नदाता सशक्त होगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव