आंखों के मिर्च झोंककर सर्राफा कारोबारी से लाखों के जेवर लूटे

 


बेंहदर (हरदोई)।कासिमपुर थाना क्षेत्र में दिन दहाड़े एक सर्राफा व्यापारी से तीन बदमाशों ने आंखों में मिर्च झोंककर व तमंचे के बल पर लाखों के जेवर की लूट की घटना को अंजाम दे दिया।व्यापारी के घर से एक किलोमीटर की दूरी पर घात लगाये बैठे बदमाशों ने गाड़ी रोककर व्यापारी को लूट का निशाना बनाया।सूचना पर एसपी मौके पर पहुंचे और लुटेरों की शीघ्र पहचान कर गिरफ्तारी किये जाने का आश्वासन दिया।

          कासिमपुर थाना क्षेत्र के गौसगंज चौकी के अंतर्गत तेरवा दहिगवां गांव के निवासी उमाशंकर पुत्र स्व लालता प्रसाद प्रतिदिन की भांति शनिवार की सुबह करीब नौ बजे सोने चांदी के आभूषणों से भरा बैग लेकर अपने घर से पुत्री श्रद्धा के साथ निकले थे।उनकी बेटी इसी क्षेत्र के एक पब्लिक स्कूल में कक्षा छह की छात्रा है।बताया जाता है कि दोनों बाईक से गौसगंज में स्थित श्रद्धा ज्वैलर्स दुकान जा रहे थे। 
      दोनो लोग गांव से करीब एक किलोमीटर दूर मोनी बाबा मंदिर के आगे महुआ के पेड़ के पास पहुंचे ही थे तभी खडे तीन अज्ञात लोगों ने हाथ देकर गाड़ी को रोक लिया। एक व्यक्ति ने सर्राफा व्यापारी उमाशंकर के कनपटी पर तमंचा लगा दिया दुसरे व्यक्ति ने मिर्ची का पाउडर आंखों में डाल दिया और तीसरे व्यक्ति ने सोने चांदी से भरा बैग छीनकर भाग निकला।उमाशंकर के शोर मचाने पर घटनास्थल पर पहुंचे ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी।घटना की सूचना मिलते ही घटनास्थल पर कासिमपुर थानाध्यक्ष दीपक रघुवंशी व गौसगंज चौकी प्रभारी अपनी पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे तथा घटनास्थल पर पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स,सीओ संडीला उमाशंकर भी पहुंच गए।
     पीड़ित उमाशंकर ने दी गई तहरीर में बताया कि उसकी बैग 6 से 7 किलो चांदी व 150 ग्राम सोने के आभूषण थे। जिसमें सोने में हार, झूमकी, अंगूठी, झाला, नथ कीलें व चांदी के जेवरात भी मौजूद थे।पुलिस अधीक्षक अनुराग वत्स ने बताया कि सर्राफा व्यापारी के साथ लूट की जो घटना हुई है इसके खुलासे के लिए तीन टीमों का गठन किया गया है जिसमें स्वाट सर्विलांस की टीम को भी शामिल किया है और इस मामले में दोषियों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत किया जा रहा है तथा दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उनको जेल भेजा जायेगा।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक