-ग्रामीणों को मिला जमीन खाली करने का नोटिस

-नोटिस मिलते ही ग्रामीणों में मची खलबली
-गांव खाली होने की जानकारी पर सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण पहुंचे कलेक्ट्रेट
-ग्रामीणों ने लेखपाल पर लगाया घूसखोरी का आरोप
-मामले में डीएम से लगाई गुहार सैकड़ों वर्षों से मकान बनाकर रह रहे ग्रामीण
-सुरसा के ग्राम अटवा मजरा सरैया का मामला
हरदोईसुरसा थाना इलाके के अंटवा के मजरा सरसैया में सैकड़ों साल से बसे गांव के लोगों को अब सरकारी नोटिस मिला है और जमीन खाली करने की बात कही गई।नोटिस मिलने के बाद ग्रामीणों में हड़कंप मच गया।ग्रामीणों ने क्षेत्रीय लेखपाल पर भी घूसखोरी का आरोप लगाते हुए कलेक्ट्रेट पहुंचकर अपनी फरियाद अधिकारियों से करते हुए मामले में कार्यवाही की मांग की है।
      कलेक्ट्रेट में अपनी फरियाद लेकर पहुंचे सुरसा थाना इलाके के ग्राम अन्टवा मजरा सरसैया तहसील सदर के ग्रामीणों ने अपना दर्द अधिकारियों से बयान किया।यहां ग्रामीणों ने बताया कि उनके गांव के भूखण्ड संख्या 181 पर करीब 200 वर्ष पूर्व से ही गाँव बसा है।इस गांव में रहने वाले लगभग सभी लोग पक्के मकान आदि बनाकर सपरिवार निवास कर रहे है।इस गाँव की आवादी करीब 700 के करीब है।
      ग्रामीणों का कहना है कि सभी लोगो को क्षेत्रीय लेखपाल जितेन्द्र कुमार द्वारा प्रति परिवार वालों से पाँच हजार रूप्या की मांग की गयी थी। परन्तु कुछ लोगों ने पांच हजार रूपये दे दिए उनको छोड़कर शेष परिवार वालो को तहसील से तहसीलदार के हस्ताक्षर से नोटिस कब्जा हटाने की व जुर्माना वसूल करने की प्राप्त कराई गयी है।नोटिसें मिलने के बाद ग्रामीण हलकान है।
      ग्रामीणों का यह कहना है कि इतने वर्ष गुजर जाने के बाद अभी तक किसी भी प्रकार की कोई सूचना आदि नही आई लेकिन इतने साल बीत जाने के बाद अब इस प्रकार की नोटिस मिलते ही लोग हैरान और परेशान है।ग्रामीणों का कहना है कि सभी व्यक्ति अनुसूचित जाति के है और मजदूरी मेहनत करके अपना परिवार पालते है।ग्रामीणों ने अधिकारियों से मांग की है कि उनके मकान खाली न कराए जाएं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव