किसानों के आंदोलन को बलपूर्वक दबाना चाहती है सरकार


 हरदोई में किसान नेताओं ने कलेक्ट्रेट में की पंचायत

-किसानों के लिए लाए गए बिलों की वापसी की मांग की
-किसान नेताओं ने कहाकि ढाई माह में कई किसानों की हुई मौतें
-सरकार व सरकार के नुमाइंदों ने नही जताया शोक
-किसान प्रदर्शन को लेकर भारी संख्या में तैनात रही पुलिस
हरदोई।किसान बिलों को लेकर चल रहे प्रदर्शन आंदोलन के मद्देनजर हरदोई में भी किसान यूनियन ने प्रदर्शन किया।इस दौरान किसान नेताओ ने कहाकि किसानों के आंदोलन को सरकार बलपूर्वक दबाना चाहती है।कहाकि किसानो के लिए लाए गए बिलों को सरकार वापस ले।किसान नेताओं ने एक ज्ञापन दिया।किसानों के प्रदर्शन को देखते हुए भारी संख्या में पुलिस बल कलेक्ट्रेट में तैनात रहा।
      कृषि कानूनों के विरोध में हरदोई में किसानों ने शनिवार को कलेक्ट्रेट में बैठक का आयोजन किया।पंचायत में किसान नेता भाकियू राष्ट्रीयता वादी के रावेंद्र सिंह चौहान ने सरकार से कृषि कानूनों की वापसी की मांग की साथ ही इसमें राकेश टिकैत के नेतृत्व में चल रहे आंदोलन को समर्थन दिया गया। किसान नेता ने कहा कि केंद्र सरकार बर्बरतापूर्वक किसान आंदोलन को कुचलना चाहती है। उसके मंसूबे कभी कामयाब नहीं होंगे।
      प्रदर्शन पंचायत के बाद किसान नेताओं ने एक ज्ञापन प्रधानमंत्री को सम्बोधित अधिकारियों को दिया।ज्ञापन में कहा गया है कि किसानों के विरोधी तीनों बिलों को वापस लिया जाए।एमएसपी गारंटी अध्यादेश लाया जाए और एमएसपी से कम मूल्य की खरीद को अपराध घोषित किया जाए और इस अपराध की सजा कम से कम सात साल की जाए।इसके अलावा भी अन्य मांगों को ज्ञापन में शामिल किया गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव