किसानों की समस्याओं पर भाकियू ने किया प्रदर्शन


 किसानों की समस्याओं को लेकर राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन 

-ज्ञापन में एमएसपी की गारंटी के विधेयक पास करने की मांग
-भारतीय किसान यूनियन अवध के बैनर तले प्रदर्शन
-एसडीएम हरदोई को दिया गया ज्ञापन
हरदोई।भारतीय किसान यूनियन अवध के बैनर तले किसान नेताओं ने अपनी समस्याओं को लेकर प्रदर्शन किया और एक ज्ञापन एसडीएम को दिया।ज्ञापन में गन्ना बकाया भुगतान व कृषि बिलों शामिल किया गया है।
      भारतीय किसान यूनियन अवध के बैनर तले सैकड़ों की संख्या में किसानों ने संगठन के प्रदेश महामंत्री मयंक सिंह चौहान व कार्यवाहक प्रदेश अध्यक्ष श्यामू शुक्ला की अगुवाई में प्रदर्शन किया और ज्ञापन दिया।ज्ञापन में मांग की गई है कि सरकार द्वारा जिस प्रकार कृषि कानून बनाया गया है उससे देश का किसान स्वयं को ठगा महसूस कर रहा है।उन्होंने ने कहा कि देश में स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट के आधार पर न्यूनतम समर्थन मूल्य पर कानून बनाया जाए व प्रदेश में गन्ने की फसल का मूल्य 450 रुपये प्रति कुंतल कर किसानो को 14 दिन में गन्ने का भुगतान सुनिश्चित कराया जाए।उन्होंने कहाकि जिस प्रकार देश मे मंहगाई बढ़ रही है प्रतिदिन डीजल ,पेट्रोल ,घरेलू गैस पर रहे दामों को लेकर किसानो को खेत से लेकर घर की रोटी चलाना मुश्किल हो रहा है।
        कार्यक्रम में पहुँचे संग़ठन में कार्यवाहक प्रदेश अध्यक्ष श्यामू शुक्ला के कहा कि प्रदेश में अन्ना जानवरो की बढ़ती संख्या के चलते किसानो की फसलें सुरक्षित नही है।दिन रात खेतों में फसलें बचाते है लेकिन जरा सी चूक होने पर किसानो की फसलें बर्बाद हो जाती लेकिन जिम्मेदार इस बड़ी समस्या से अनभिज्ञ है गौशालाएं खाली पड़ी है।
       इस मौके पर किसान नेता राहुल मिश्रा जिला अध्यक्ष कदीर पहलवान ,सदर तहसील अध्यक्ष भोले सिंह ,टोडरपुर अध्यक्ष अमिताभ सिंह, पिहानी ब्लाक अध्यक्ष अतुल दिक्सित,  प्रदेश उपाध्यक्ष दिनेशचंद्र वर्मा, तहसील अध्यक्ष संडीला सोहनलाल गौतम ,ब्लाक उपाध्यक्ष सलिक राम  तहसील अध्यक्ष सवायजपुर राहुल शुक्ला मीडिया प्रभारी हिमांशु दीक्षित स्वतंत्र  शोभित शुक्ला शिवम मिश्र अखिलेश बाजपेई  सुनील तिवारी, मनीष सिंह के साथ सैकड़ो की संख्या में किसान मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक