रामलीला में सती प्रसंग का चित्रण देख भावविभोर हुए दर्शक

 


हरदोई।शहर के नुमाइश मेले में चल रही रामलीला में सती मोह का मंचन किया गया।सती प्रसंग देखकर कर दर्शक भावविभोर हो गए।

       लीला में दिखाया गया एक बार भगवान भोलेनाथ मां पार्वती को साथ लेकर कुंभज ऋषि के पास प्रभु श्री राम की कथा सुनने के लिए आए। कुंभज ऋषि ने भोले बाबा और मां पार्वती की कथा श्रवण कराई। कथा सुनकर भोलेनाथ और मां पार्वती वहां से प्रस्थान कर रहे होते हैं तभी भोलेनाथ के मन में विचार आता है कि एक बार भगवान प्रभु के दर्शन हो जाएं और आगे के लिए प्रस्थान करते हैं तभी प्रभु श्री राम भाई लक्ष्मण के सहित जानकी की खोज करते हुए मिलते हैं भगवान भोलेनाथ श्री राम को प्रणाम करते हैं तभी सती के हृदय में संदेह होता है कि भगवान भोलेनाथ को सुर, नर, मुनि सभी प्रणाम करते हैं और यह किस को प्रणाम कर रहे हैं । तब भोलेनाथ सती को प्रभु के दर्शन कराते हैं। और सती भोलेनाथ से कहती हैं कि प्रभु क्या यह नारायण भगवान जी हैं मनुष्य की भाँति अपनी स्त्री को खोजते फिर रहे हैं। मां सती के हृदय में इच्छा हुई कि मैं प्रभु श्री राम की परीक्षा लूंगी भगवान भोलेनाथ ने मां सती को बार बार मना किया कि तुम परीक्षा लेने मत जाओ पर मां सती प्रभु श्री राम की परीक्षा लेने जाती हैं । और सीता जी का रूप धारण कर मार्ग में बैठ जाती हैं प्रभु श्री राम जी ने मां सती के चरणों में प्रणाम किया और पूछा कि आप इस वन में क्या कर रही हो प्रभु भोलेनाथ कहां हैं मां सती भगवान भोलेनाथ के पास पहुंच गए और भोलेनाथ ने पूछा कि तुमने प्रभु श्री राम की परीक्षा ले ली तो मां सती झूठ बोल देती हैं कि मैंने परीक्षा नहीं ली उसी समय भगवान भोलेनाथ ने हृदय में प्रण किया कि मैं इस तन से भेंट नहीं करूंगा।
      दक्ष प्रजापति यज्ञ करते हैं और सभी देवी देवताओं को निमंत्रण देते हैं परंतु भोलेनाथ को नहीं देते हैं। और मां पार्वती वहां जाना चाहती हैं । भोलेनाथ उनसे बार-बार मना करते हैं परंतु मां पार्वती वहां चली जाती हैं और देखती हैं कि यहां मेरे पति को स्थान ही नहीं दिया गया और मां सती उसी यज्ञ में अग्नि में सती हो जाती हैं तब यह समाचार भोलेनाथ ने सुना तब भोलेनाथ ने वीरभद्र को प्रकट किया। सभी को उचित दंड दिया उसके पश्चात भगवान भोलेनाथ तपस्या में लीन हो गए।इस अवसर पर प्रेम शंकर द्विवेदी सुरेश पांडे बबलू शुक्ला प्रमोद मिश्रा मुनेंद्र सिंह मुन्ना शुक्ला आदि लोग तथा भारी संख्या में दर्शक मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव