हरदोई में 6 वर्षीय बालक की हत्या का खुलासा


 पुलिस ने बालक के पड़ोस के रहने वाले पिता पुत्र को किया गिरफ्तार

-15 जनवरी को ही पिता पुत्रों ने कर दी थी बालक की हत्या
-हत्या के बाद बालक के पिता से पैसों की मांग के लिए लिखा था पत्र
-दोनो की निशानदेही पर मृतक का पायजामा एक पत्र व पेन किया गया बरामद
-कोतवाली देहात के कौढ़ा गांव में घर के बाहर से गायब हुआ था 6 साल का मासूम 
हरदोई।कोतवाली देहात इलाके के कौढ़ा गांव में 15 दिन से लापता 6 साल के मासूम बच्चे के अपहरण और हत्या का पुलिस  ने खुलासा करते हुए मृतक के बालक के पड़ोस के रहने वाले पिता पुत्र को गिरफ्तार किया है।उनकी निशानदेही पर मृतक का पैजामा एक पेन व एक पत्र बरामद किया है।एसपी अनुराग वत्स के मुताबिक घर से ले जाने के बाद उसी दिन बालक की गला दबाकर हत्या करने के बाद शव को बोरी में बन्दकर फेंक दिया था।इसके बाद मृतक बालक के पिता से पैसे की वसूली करने के लिए एक पत्र भी लिखा था।इस ब्लाइंड मर्डर के खुलासे के लिए पुलिस ने चार टीमों का गठन किया था।पुलिस ने दोनो को जेल भेजा है।
      मामले का खुलासा करते हुए एसपी अनुराग वत्स ने बताया कि देहात कोतवाली इलाके के कौंढा गांव निवासी 6 साल का गोलू पुत्र मायाराम 15 जनवरी को घर के बाहर से आग के पास से खेलते हुए लापता हो गया था।परिजनों ने तलाश की तो उसका कोई पता नही चला जिसके बाद मामले की सूचना पुलिस को देकर गुमशुदगी दर्ज कराई गई थी जिसके बाद पुलिस ने बालक की गुमशुदगी दर्ज कर ली थी और उसकी तलाश शुरू की थी।
       एसपी ने बताया कि लापता बालक का 15 दिन बाद शव गांव के बाहर तालाब में तब मिला था जब गुरुवार को गांव के बाहर एक तालाब में सिंघाड़े निकालने के बाद किसान लोगों ने पानी खेतों में लगाने के लिए निकाला तो तालाब का पानी कम हो गया था जिसमे ग्रामीणों ने प्लास्टिक की बोरी देखी जिससे बदबू आ रही थी।इसके बाद ग्रामीणों ने मामले की पुलिस को सूचना दी।मामले की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने जब तालाब में पड़ी हुई बोरी को बाहर निकाला तो उसमें मासूम बालक का शव बोरी के अंदर बंधा हुआ पड़ा मिला। शव को पानी के अंदर डुबोये रखने के लिए कातिल ने बोरी में ईंट भी बाँध रखी थी।
         एसपी के मुताबिक मामले की सूचना पाकर वह स्वयं सीओ सिटी विकास जायसवाल फोरेंसिक टीम के साथ मौके पर पहुंचे थे और खुलासे के लिए चार टीमों का गठन करके पुलिस हत्या की वजह तलाशने व हत्यारोपियों की तलाश करने में लग गयी थी।एसपी ने बताया कि पुलिस की पड़ताल के दौरान मृतक के पड़ोस के रहने वाले रामखेलावन व उसके पुत्र अंकित को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी।पूछताछ के दौरान दोनो ने स्वीकार किया कि उन्होंने मृतक बालक के पुत्र के पिता से पैसे लेने के लिए उसका अपहरण किया था और उसी दिन रेलवे लाइन के किनारे ले जाकर हत्या करके शव बोरी में बन्दकर फेंक दिया था।एसपी ने बताया कि बालक की हत्या के बाद इन लोगों ने पैसों की मांग को लेकर एक पत्र लिखकर बालक के पैजामे में डाल दिया और उनके पैजामे को प्रधान सुधीर के बेसमेंट के पास फेंक दिया था।एसपी ने बताया कि दोनो को जेल भेजा गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव