उत्तर प्रदेश में हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट की अनिवार्यता पर रोक


सवा तीन करोड़ लोगों को राहत

लखनऊ ,आरटीओ कार्यालय के चक्कर लगा रहे पुराने वाहनधारकों के लिए यह खबर राहत देने वाली है। प्रदेश में एक अप्रैल, 2019 से पूर्व लिए गए वाहनों में अब हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन नंबर प्लेट लगवाए जाने की अनिवार्यता को फिलहाल स्थगित कर दिया गया है। अब एचएसआरपी की रसीद बिना दिखाए वाहन संबंधित सभी कार्य होंगे। 

डीलरों के पास नंबर प्लेटों का अभाव, एचएसआरपी के नाम पर मनमानी धन उगाही, पोर्टल पर आती दिक्कतों को लेकर वाहन स्वामी परेशान थे। पहली दिसंबर से की गई एचएसआरपी की अनिवार्यता के बाद लोगों की समस्याओं को देखते हुए परिवहन आयुक्त धीरज साहू ने सोमवार को इस आशय का फैसला लिया। अपर परिवहन आयुक्त एके पांडेय के मुताबिक अब पुराने वाहनों में एचएसआरपी लगवाए जाने को लेकर वाहन स्वामी परेशान न हों। फिलहाल अनिवार्यता के आदेशों को स्थगित कर दिया गया है। नए आदेशों के बाद ही इस दिशा में अग्रिम कार्यवाही आगे बढ़ेगी।

हाई सिक्योरिटी रजिस्ट्रेशन प्लेट यानी एचएसआरपी की अनिवार्यता स्थगित होने के साथ ही आरटीओ कार्यालय में वाहनों के फिटनेस संबंधित काम पर अब हो सकेंगे। रोक हट गई है। अब वाहन स्वामी फिटनेस प्रमाण पत्र जारी होने, पता परिवर्तन, स्वामित्व हस्तांतरण, पंजीयन का नवीनीकरण, एनओसी, पोथैकेशन पृष्ठांकन, हाइपोथिकेशन, निरस्तीकरण, नया परमिट, परमिट की द्वितीय प्रति, परमिट नवीनीकरण, नेशनल, अस्थाई अथवा विशेष परमिट आदि कार्य अब बिना एचएसआरपी रसीद के आरटीओ में हो सकेंगे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

Sitapur Breaking News :पत्नी से़ छुब्ध होकर युवक ने लगाई फांसी।

यूपी में बैंक के समय में हुआ बड़ा बदलाव